अद्भुत रहस्य: काला बच्चा पाने के लिए यहाँ की महिलाऐं करती हैं ऐसे खतरनाक काम.. आखिर क्यों ?

दोस्तों आप सभी जानते हैं की अक्सर महिलाऐं सुन्दर बच्चे पाने के लिए दुनिया भर के नुश्के और तरीके अपनाते हैं और प्रेगनेंसी के दौरान अनेक प्रकार के ऐसे चीजों का सेवन करते हैं ताकि वो एक अच्छा और सुन्दर बच्चे को जन्म दे सकें l लेकिन दुनिया में ऐसे भी जगह मौजूद हैं जहाँ सुन्दर बच्चों की चाह नहीं है और सुन्दर बच्चे को जन्म देने पर आपको सजा भी मिल सकती है l आज हम ऐसे ही एक किस्से और रहस्य के बारे में बताने जा रहे हैं जहाँ की महिलाऐं सुन्दर बच्चे को जन्म नहीं दे सकती l

दोस्तों हम एक समुदाय के बारे में बताने जा रहे हैं जहा पर जन्म लिया हुआ एक भी बच्चा अगर काले रंग के अलावा हल्का साफ़ या गोरा पैदा होता है तो उसे मर दिया जाता है और इसके पीछे छुपा हुआ रहस्य यह है की इस समुदाय को यह लगता है की यह बच्चा इस कूल का इस समुदाय का नहीं है l यह परंपरा अंडमान के रहने वाले आदिवासी समाज वाले करते हैं और अंडमान की पुलिस इस बात से बहुत परेशान रहते हैं क्यूंकि वो शिकायत का एक्शन लें या फिर इस ट्राइब में चलने वाली परंपरा की गरिमा को बनाये रखें l यहाँ जन्म लेने वाला हर बच्चे का रंग सिर्फ और सिर्फ काला ही होना चाहिए l

यहाँ के लोगों को काला बच्चा पैदा करने के अलग अलग तरीके और नुश्के अपनाने पड़ते हैं और यहाँ तक काला बच्चा पैदा करने के लिए इन्हें जानवरों का खून पीना पड़ता है और इसके पीछे का कारन यह है की जानवरों का खून अगर किसी गर्ववती महिला को पिलाया जाए तो बच्चे का रंग गाढ़ा हो जाता है और वह जन्म से ही काला पैदा होता है l यह जनजाति और समाज को जारवा समुदाय के नाम से जाना जाता है l और यहाँ तक की जब किसी भी बच्चे को यहाँ जन्म दिया जाता है तो यहाँ मौजूद समुदाय के हर महिलाओं को उस बच्चे को स्तनपान करवाना पड़ता है l ताकि वह बच्चा समुदाय के लोगों से भिन्न न रह जाए l 

Leave a Reply

Your email address will not be published.