अनोखा नागराज का मंदिर – साल में एक बार खुलता है पर दर्शन करना मना है, जानिए क्यों

भारत में उत्तराखंड के चमोली जिले में देवाल नामक में एक ऐसा मंदिर है जहा किसी भी प्रकार के श्रद्धालु को दर्शन करने की अनुमति नही है | यहा तक की मंदिर में पूजा करने वाले पुजारी को भी आंख, नाक और मुंह पर पट्टी बांधकर पूजा करनी होती है |
लाटू देवता नागराज मंदिर

यह अजीबोगरीब मंदिर लाटू देवता का है | स्थानीय लोगो की माने तो इस मंदिर में एक नागराज (नाग देवता ) अपनी दिव्य मणि के साथ विराजमान है | इन दोनों के दर्शन करना किसी भी व्यक्ति के वश की बात नही है | मणि की रौशनी इतनी चुंधियाहट भरी है की कोई नंगी आँखों से देख ले तो अँधा भी हो सकता है |

साल में बस एक बार खुलता है
यह मंदिर भी उज्जैन के नागचंद्रेश्वर मंदिर की तरह पुरे वर्ष में बस एक बार खुलता है | वो दिन वैशाख माह की पूर्णिमा का होता है | पुजारी नाक कान और आँखों पर पट्टी बांधकर पूजा करते है | नागराज की विषैली गंध से बचाव के लिए नाक पर पट्टी बांधनी पड़ती है | भारी मात्रा में श्रद्धालु दूर से सिर झुकाने आते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.