अलर्ट दिवाली तक सोना हो जाएगा 70 हजार से भी पार, जानिए वजह

अपने भारत में लगातार देखते आ रहे हैं कि सोना चांदी के दामों में लगातार बढ़ोतरी होती ही रहती है इसी कारण लोग अपनी जरूरत के अनुसार चीजों को बना लेते हैं इसी बीच हालात और भी ज्यादा खड़े होने वाले हैं इसके बारे में बात बताने जा रहे हैं कि जनवरी से अब तक सोने की रेट कई गुना अभी तक बढ़ चुका है, आप बता दें कि इस शुक्रवार तक सोने का रेट अभी 57 हजार से भी ज्यादा प्रति 10 ग्राम तक पहुंच गया है इसी के साथ होने दो महीना में इसकी कीमत और पढ़े जाने की सब हालात दिखाएं नजर आ रहा है इसी बीच एक्सपर्ट से जानने के बाद पता चला है कि मारो तिवारी तक सोने का रेट 70000 प्रति ग्राम हो सकता है.

इसी के साथ अगर हम चांदी की बात करें तो चांदी के दामों में भी यही हाल दिखाएं नजर आ रहा है जैसे कि आप जानते हैं कि हमारी के वजह से जहां सोना चाहता हूं आसमान छू रहे हो वही इन्वेस्ट भी उसी हिसाब से बढ़ते जा रहे हैं, चाइनीस बता देगी गोल्ड सिल्वर के रेट भरोसा शुक्रवार से दिल्ली में सोने का रेट 57000 किलो प्रति ग्राम तक पहुंच गया है वहां बताया जा रहा है कि अभी तक लगातार बढ़ोतरी हो रहे हैं और ऐसा लगता है कि आसमान को छूने वाली है सोना चांदी की महंगाई और इसी तरह अगर महंगाई बढ़ती रही तो दिवाली तक 70 हजार पार हो सकता है इसी बीच एक्सपर्ट का कहना है के यह गिरावट इतनी जल्दी दुरुस्त नहीं होने वाली है और संकट बना रहेगा इसके परिणाम सोना की मांग लगातार बनी रहेगी और इसकी कोई ऐसा नहीं है कि सोना के रेट में गिरावट कब होगी, इसी बीच बता दे कि सिर्फ सोना ही आसमान को नहीं छू रहा साथ में चांदी का भी भाव जान ले जी हां चांदी का रेट ₹576 प्रति किलो पढ़कर ₹77840 प्रति किलोग्राम का रिकॉर्ड बनाने जा रही है, इसी बीच कुछ खास बात आपको बता दें कि इस सृष्टि के मिल सकता है रिटर्न जी हां गोल्ड सिल्वर दोनों धातुओं के आंकड़े में अधिक मात्रा में छलांग रबारी इसमें निवेश करने वाले लोगों को निराशा नहीं होगी क्योंकि अगर अभी किसी ने गोल्डलेकर निवेश किया है तो वे आने वाले दिवाली तक सोने का भाव 70000 से भी पार यानी पार कर जाने के बाद भी वे अगली ही फ़ीसदी तक समय आने पर अपने धातुओं को रिटर्न कर अधिक मुनाफा पा सकते हैं किसी के साथ बताने की हमें भी कहा नहीं जा सकता कि दिवाली तक कितनी बढ़ोतरी हो सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.