आइंस्टीन का जीभ दिखाते हुए फोटो इतना मशहूर क्यों है? जानिए

एक ऐसे शख्स जिन्हें देखकर कभी नहीं लगता था कि यही वह महान वैज्ञानिक है, जिसने विश्व को क्रांतिकारी सिद्धांत दिए हैं, जिसे विश्व पूरा सम्मान देता है ! नोबेल पुरस्कार (Nobel Prize) भी उसके कामों के सम्मुख बौना पड़ता है ! यह महान व्यक्ति और कोई नहीं, विश्व प्रसिद्ध वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन थे ! अल्बर्ट आइंस्टीन (Albert Einstein) 14 मार्च 1879 में जर्मनी के एक साधारण परिवार में जन्मे थे ! पिता बिजली के सामान का छोटा-सा कारखाना चलाते थे ! मां घर का कामकाज करती थी !

इस फोटो में उन्होंने बेहद ही शरारत भरे तरीके से अपनी जीभ बाहर निकाली हुई है ! 14 मार्च, 1951 को प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में नोबेल पुरस्कार विजेता के 72वें जन्मदिन के मौके पर फोटोग्राफकर आर्थर सैस ने यह तस्वीर खींची थी !आइंस्टीन की ये तस्वीर 1,25,000 डॉलर की बिकी थी।

नीलामी कंपनी ‘नेट डी सैंडर्स’ (Net de sanders) के अनुसार सैस की नियोक्ता कंपनी शुरुआत में यह तस्वीर प्रकाशित करने को लेकर उहापोह में थी, लेकिन जब तस्वीर छपी तो आइंस्टीन उसे देखकर इतने खुश हुए कि उन्होंने अपने करीबी दोस्तों को देने के लिए उसकी कई प्रतियां बनवायीं !

जहां ज्यादातर प्रतियों को क्रॉप कर दिया ताकि उसमें केवल आइंस्टीन ही दिखें, इस तस्वीर में उनके साथ वहां मौजूद प्रिंसटन के इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडी के प्रमुख फ्रैंक आयडेलॉट और आयडेलॉट की पत्नी भी नजर आ रही हैं ! आइंस्टीन तब प्रिंसटन क्लब में अपना जन्मदिन मनाने के बाद दोनों के बीच में बैठे थे !

ऐसा भी कहा जाता है कि आइंस्टीन को एक टीचर ने स्कूल छोड़ने तक की सलाह दे दी थी क्योंकि उनका मानना था कि आइंस्टीन की बुराइयों से स्कूल के दूसरे छात्र प्रभावित होते हैं और उनकी आदतें बिगड़ती हैं ! लेकिन इन तमाम कमियों, तीखी टिप्पणियों के बावजूद आइंस्टीन निराश नहीं हुए !

लेकिन जीवन के प्रति उनमें आशा बनी रही क्योंकि उन्होंने अपना आत्मविश्वास नहीं खोया था ! उन्होंने किसी टीचर की टिप्पणी से आहत होकर आत्महत्या नहीं की बल्कि अपने परिश्रम और अपनी प्रतिभा से नोबेल पुरस्कार तक प्राप्त किया ! विश्व विज्ञान को आइंस्टीन की देन से हम सब परिचित हैं !

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *