आईपीएल में बायो बबल क्या है? बायो बबल तोड़ने की क्या सजा है?

चेन्नई सुपर किंग्स की टीम इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें संस्करण की शुरुआत से पहले से ही किसी ना किसी विवाद में फंसती नजर आई है। महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व वाली इस टीम को अब अपने एक खिलाड़ी द्वारा बायो बबल गाइडलाइंस को तोड़ने की वजह से सजा मिली है। गेंदबाज KM Asif ने बबल तोड़ा और ऐसा करने वाले वे टूर्नामेंट के पहले खिलाड़ी बन गए है।

Covid-19 महामारी की वजह से इस बार का टूर्नामेंट भारत के बाहर यूएई में आयोजित किया जा रहा है। खिलाड़ियों की सुरक्षा के मद्देनजर सभी टीमों को बायो बबल में रखा गया है और किसी का भी इससे बाहर जाना मना है। ऐसा करने के दोषी पाए गए खिलाड़ी को कड़ी सजा का प्रावधान है। सीएसके के तेज गेंदबाज KM Asif को आईपीएल के बायो बबल को तोड़ने का दोषी पाया गया है।

आसिफ ने इस वजह से तोड़ा बायो बबल :

चेन्नई के गेंदबाज आसिफ ने कुछ दिन पहले बायो बबल को तोड़ा था जिसके बाद उनको 6 दिनों के लिए क्वारंटाइन कर दिया गया। आसिफ जिस होटल के कमरे में ठहरे हुए हैं उन्होंने उस कमरे की चाभी गुम कर दी थी। इसके बाद कमरा खुलवाने के लिए उनको होटल के रिसेप्शन एरिया तक जाना पड़ा। ऐसा करने की वजह से ही बायो बबल टूटा क्योंकि जिस एरिया में आसिफ गए थे वह बबल प्रोटोकॉल से बाहर रखा गया था।

पहली गलती की वजह से नहीं मिली बड़ी सजा :

केएम आसिफ ने यह गलती जानबूझकर नहीं की थी इसलिए मामूली सजा देते हुए सिर्फ 6 दिनों के लिए क्वारंटाइन किया गया। कमरे की चाभी गुम हो जाने पर होटल के रिसेप्शन से ही मदद मिलती है, लेकिन आसिफ को इस बात की जानकारी नहीं थी कि वह एरिया बायो बबल से बाहर है। आईपीएल की बायो बबल गाइडलाइंस के अनुसार, दूसरी बार इसे तोड़ने पर एक मैच के लिए निलंबित किया जाएगा। तीसरी बार इसका उल्लंघन करने पर खिलाड़ी को आईपीएल से बाहर कर दिया जाएगा और उसकी जगह किसी दूसरे खिलाड़ी को टीम में शामिल करने की अनुमति भी नहीं रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.