आजकल ट्रायल रूम में लोग कैमरा छुपा कर रखते है उसका पता कैसे लगाया जा सकता है ?

1- मिरर के पीछे हिडन कैमरा लगा हुआ है या नहीं इस बात का पता आप मिरर पर अपनी उंगली रख कर लगा सकते है। अगर आप शीशे पर उंगली रखते है और शीशे में दिख रही आपकी उंगली के बीच में गैप आ रहा है तो इसका मतलब वह शीशा ऑरिजनल है।

2- कमरे की लाइट्स ऑफ करके भी आप हिडन कैमरे का पता लगा सकते है। जिसके लिए सबसे पहले आप पूरे रुम की लाइट बंद कर ले फिर देखिए की कहीं कोई रेड या ग्रीन लाइट तो नहीं नजर आ रही । अगर ऐसा दिखें तो इसका मतलब आपके कमरे में सौ प्रतिशत हिडन कैमरा लगा हुआ है।

3- कुछ कैमरा मोशन सेंसिटिव होते है जो एक्टिविटी होने पर ही अपने आप चालु हो जाते है। जिसकी आवाज सुनकर आप हिडन कैमर को आसानी से पकड़ सकते है।

4- यादि आप किसी ट्रायल रुम में जाते है और आपके फोने के नेटवर्क चला जाएं तो समझ जाएं कि रुम में हिडन कैमरा है। क्योंकि जहां हिडन कैमरा लगा होता है वहां पर फोने के नेटवर्क काम हो जाते है।

5- ट्रायल रुम का इस्तेमाल करते वक्त आप सबसे पहले देखे की कही ट्रायल रूम के हुक या हैंडल में कोई हिडन कैमरा तो नहीं क्योंकि अक्सर इन जगहों पर भी हिडन कैमरा लगे होने के चांस होते है।

6- अगर दरवाजे में नीचे या बीचे में थोड़ा स्पेस है या कहीं से बीच में टूटा हुआ है । तो उस जगह हिडन कैमरा होने की गुंजाइश हो सकती है।

7- हिडन कैम डिरेक्टर बड़े काम की चीज है। ये डिटेक्टर कहीं भी छिपे हुए कैमरे की खोज कर सकता है।

8- अपने स्मार्टफोन में आप हिडन कैमरा फाइंडर ऐप डाउनलोड कर सकते है। इसके चलते ट्रायम रूम में एंट्री करते ही उस एप को ऑन कर मोबाइल को ट्रायल रुम में घुमाएं । अगर लाल रंग का निशान ब्लिंक करते हुए दिखेतो समझ जाएं रुम में कैमरा छुपा हुआ है या नहीं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *