आपका घर भी दक्षिणमुखी है तो जानिए वास्तु दोष से बचने के सबसे आसान उपाय ?

कुछ बातों का ध्यान रखकर दक्षिणीमुखी मकान के नकारात्मक प्रभाव से बचा जा सकता है आज हम आपको वो उपाय बताएंगे।

अगर दक्षिणमुखी माकन के सामने द्वार से दोगुनी दुरी पर स्थित नीम का हराभरा वृक्ष है या मकान से दोगुना बड़ा कोई दूसरा मकान है तो दक्षिण दिशा का असर कुछ कम हो जाएगा इसके आलावा द्वार के ऊपर पंचमुखी हनुमानजी का चित्र भी लगाना चाहिए।

दक्षिण मुखी प्लान में मुख्य द्वार आग्नेय कोण में बना है और उत्तर तथा पूर्व की तरफ ज्यादा व पश्चिम व दक्षिण में कम से कम खुला स्थान छोड़ा गया है तो भी दक्षिण का दोष कम हो जाता है।

बगीचे में छोटे पौधे पूर्व -ईशान में लगाने से भी दक्षिण का दोष कम हो जाता है।

दक्षिणी मुखी भूखंड का द्वार दक्षिण या दक्षिण पूरब में बिलकुल नहीं बनाना चाहिए।

अगर आपका दरवाजा दक्षिण की तरफ है तो द्वार के टिक सामने एक आदमकद दर्पण इस प्रकार लगाएं जिससे घर में प्रवेश करने वाले व्यक्ति का पूरा प्रतिबिंब बने ऐसा करने से घर में प्रवेश करने वाले व्यक्ति की नकारात्मक ऊर्जा पलटकर वापिस चली जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.