इस आदमी ने अपने सपने पुरे करने के लिए की सारी हदे पार कर दी।

आज हम आपको एक ऐसे ही आदमी से परिचित करवाएंगे जिसने अपने सपनो को पूरा करने के लिए सारी हदे पार कर दी।

आज हम आपको “एलोन मस्क ” के बारे मे बताएंगे कि कैसे इतनी मुश्किलों के बावजूद उन्होंने अपने सपनो को पूरा किया।

तो चलिए जानते है इस व्यक्ति के बारे मे।

एलोन मस्क” एक बिजनेसमैन, इंजीनियर और इन्वेस्टर है। उन्होंने साउथ अफ्रीका के प्रिटोरिआ शहर मे जन्म लिया। उन्हें 10 साल की उम्र मे कंप्यूटर से इनको लगाव हो गया। और सिर्फ 12 साल की उम्र मे इन्होने कंप्यूटर कोडिंग सिख लिया।

जहा से आम आदमी की सोच ख़त्म होती है, वहां से एलोन मस्क की सोच शुरू होती है।

सिर्फ 12 साल की उम्र मे उन्होंने “बलास्टर ” गेम बनाया और उसे 500$ मे कंपनी को बेच दिया। जहा 12 साल की उम्र मे बच्चे मोबाइल गेम खेलते है, वही 12 साल की उम्र मे उन्होंने गेम बनाया।

इन्हे असाधारण मानव कहे तो गलत नहीं होगा।

17 साल की उम्र मे उन्होंने “क्वीन महा- विद्यालय से शिक्षण किया।

अपने बड़े भाई के साथ मिलकर उन्होंने ” ज़िप 2 ” नाम की एक कंपनी शुरू की। और उस कंपनी को उन्होंने ” 307 मिलियन $ ” मे बेच दिया। जिससे एलोन को 7% के हिसाब से 22 मिलियन $ मिले।

1999 मे उन्होंने ” एक्स. कॉम ” की एक कंपनी खड़ी कर दी और आगे चल कर यह कंपनी ” पेपल ” के नाम से प्रशद्ध हुई। जो की मनी ट्रांसफर के लिए सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाने वाली कंपनी है।

2002 मे उन्होंने 100 मिलियन $ इन्वेस्ट कर के स्पेस एक्स कंपनी शुरू कर दी।

2016 मे न्यूरालिंक नाम की कंपनी खड़ी की जो आगे चल कर अर्टिफिकल इंटेलिजेंस के साथ जुड़ गयी।

एलोन ने हमेशा से ही मानव के जीवन को बेहतर बनाने के लिए काम किया है।

इतने पर भी वह रुके नहीं। उन्होंने ” टेस्ला ” नाम से प्रसिद्ध कंपनी खोली। और आप जानते ही होंगे की टेस्ला की खासियत उसकी बिजली पर चलने वाली कार से है।

आप सोच मे पड़ गए होंगे कि एक आदमी इतनी सब कुछ कैसे कर सकता है। इतनी सारी कंपनी को कैसे मैनेज करता होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.