एफिल टॉवर की ऊंचाई कितनी है और यह कैसे बनाया गया है? जानिए

ये है पेरिस का एफिल टावर जिसे देखने आते हैं करोड़ों लोग, 18,038 लोहे के टुकड़ों से है बना

हर साल पेरिस के एफिल टावर को देखने करोड़ों लोग आते हैं। शाम को रोशनी से जगमगाने वाला यह टावर बेहद खूबसूरत है। एफिल टावर का निर्माण 1889 में हुआ था। इस लोहे के टावर की ऊंचाई 300 मीटर है। इस टावर के सबसे ऊपरी माले पर पहुंचने के लिए आपको करीब 1,665 सीढ़ियां चढ़नी होंगी।

एफिल टावर का नाम एक इंजीनियर गुस्तव एफिल के नाम पर रखा गया है। रात के वक्त यहां की तस्वीर खींचना गैरकानूनी है। दरअसल, इस टावर पर लगी लाइट्स के डिजाइन पर उसके कलाकारों का कॉपीराइट है। एफिल टावर का निर्माण 300 कारीगरों ने काम किया था। इसे बनाने में 18,038 लोहे के टुकड़े और 2.5 मिलियन कील का इस्तेमाल हुआ था।

दूसरे विश्व युद्ध के दौरान हिटलर जब पेरिस पहुंचा तो एफिल टावर के लिफ्ट की केबल काट दी गई थी, ताकि वो इस टावर के सबसे ऊपर न पहुंच सके। आपको बता दें कि एफिल टावर को विश्व मेले के प्रवेश द्वार के रूप में तैयार किया गया था।

इसके बाद इसे तोड़ने की योजना भी बनी लेकिन इसकी बढ़ती लोकप्रियता और सुंदरता के चलते इसे तोड़ा नहीं गया। यह टावर फ्रांस की संस्कृति का प्रतीक और विश्व के साथ अजूबो में शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.