ऑक्सीजन की कमी होने पर शरीर में दिखते है ये संकेत

कोरोनावायरस महामारी से हालात बदतर हो गए है ,अस्पतालों में बेड की कमी है, ऑक्सीजन की कमी संक्रमित लोगो को सांस में परेशानी के कारण ऑक्सीजन लेवल कम हो रहा है , जिसके चलते देश में ऑक्सीजन की कमी होने लगी है जिस्से कई रोगी अपनी जान भी गंवा चुके हैं।

डॉक्टर्स के अनुसार सांस लेने में तकलीफ होने पर ऑक्सीजन लेवल में कमी होने के संकेतों के बारे में जान लें जिससे घर में भी सुरक्षित रहकर इलाज कर सकते हैं।

सांस लेने में दिक्कत होना या कम सांस आना निश्चित रूप से कोरोना का एक सामान्य लक्षण है। हालात को देखते हुए घर में ही ऑक्सीमीटर के साथ-साथ ऑक्सीजन सिलेंडर रख जरुरी हो या है। डॉक्टर्स के अनुसार सभी को सांस लेने में दिक्कत होने पर अस्पताल में भर्ती होने की जगह घर पर ही इलाज ले बहुत गंभीर स्थिति में ही अस्पताल पहुंचे।

हालात के अनुसार सभी को सही ऑक्सीजन लेवल की जानकारी होनी चाहिए। 95 से ऊपर का ब्लड ऑक्सीजन लेवल सही होता है यदि ये 91-94 के बीच हो जाये तब ऑक्सीजन लेवल पर ध्यान देने की जरूरत होती है। एक्सपर्ट के अनुसार घर पर ही ऑक्सीजन थैरेपी की मदद से ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने में मदद मिल सकती है।

यदि होंठों का रंग नीला होने के साथ हल्की सूजन है और चेहरे पर कालापन दिखने लगे ये शरीर में ऑक्सीजन लेवल की कमी का संकेत है।

ऑक्सीजन की कमी पूरे शरीर को प्रभावित करती है और ऑक्सीजन की कमी होने पर रक्त के प्रवाह में रुकावट आती है। जिसके चलते चक्कर आ सकते हैं या रोगी को भ्रम होने की साथ एकाग्रता की कमी हो सकती है।

शरीर में ऑक्सीजन की कमी किसी भी रोगी के लिए एक खतरे का संकेत है।परन्तु ऑक्सीजन लेवल के घटने और बढ़ने पर घर में रहकर भी ठीक किया जा सकता हैं।परन्तु रोगी की छाती में दर्द, सांस लेने में दिक्कत, बहुत तेज सिरदर्द, खांसी जैसी परेशानी भी हो तो अस्पताल ले जाने में देरी न करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.