ऑपरेशन से पहले बेहोश करने वाला डॉक्टर यह क्यों पूछता है कि कोई नकली दांत तो नहीं है? जानिए वजह

ऑपेरशन के वक़्त इंसान बेहोश किया जाता है ,ऐसे मैं सांस लेने के लिए मुंह के जरिए नली डाली जाती है जो कि सांस की नली मैं फिट हो जाती है अगर कोई नकली दाँत हो तो वो नली डालते समय निकलकर फेफड़ों में जा सकता है।

सामान्तया होश मैं रहने पर खांसी आ जाती है जो कि उसे अंदर जाने से रोकेगी ,लेकिन बेहोशी मैं खांसी भी नहीं आएगी। और मरीज की जान को खतरा हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.