किसका पंजा भयानक होता है, बाघ का या भालू का?

पंजा तो दोनों का भयानक होता है।

लेकिन आपने आपने तुलनात्मक उत्तर का अनुरोध किया है अत : प्रयास अवश्य करूंगी।

भालू का पंजा – ऐसा होता है भालू का पंजा……..

भालू का पंजा मनुष्य के पांव के निशान की तरह ही बनता है लेकिन यह सामने से मनुष्य के मुकाबले चौड़ा और बड़ा होता है। भिन्नता यह होती है कि पंजे की उंगलियों के निशान में आगे की उंगलियों से कुछ दूर नाखून के निशान अलग से बनते हुए दिखते हैं। भालू के पिछले पंजों के निशान को ही स्पष्ट रुप से बनते देखा जा सकता हैं। अगले पंजों के निशानहमेशा अस्पष्ट होते हैं।

भालू के छाती का हिस्सा काफी कमजोर होता है। वो लड़ते समय अपने प्रतिद्वंद्वी पर थूक की धार उड़ेलता है जिससे प्रतिद्वंद्वी की आंख की रौशनी जाने का खतरा बना रहता है। । उसके चीभ मे कांटा पाया जाता है। मादा भालू अपने बच्चे की मृत्यु का शोक एक सामान्य स्त्री की तरह ही करती।भालू ज्यादातर स्त्री-पुरुष में स्त्रियों का ज्यादा शिकार करते हैं। बहुत कम लोग जानते हैं कि भालू महिलाओं का शिकार सबसे भयावह तरीके से करते हैं। महिलाओं के शरीर के उभरे हुए हिस्से को अपने कांटेदार जबान से चाटता है ताकि शिकार धराशायी हो जाए। इस बात की जानकारी मुझे बस्तर की एक आदिवासी महिला से प्राप्त हुई थी कि भालू महिलाओं पर कैसे आक्रमण करता है।

चूंकि महिला उनकी सॉफ्ट टारगेट होती हैं। ना जिंदा रहने देता है और ना ही मरने देता है। ये बहुत ही भयानक होता है।

उस औरत ने कुछ दूरी पर खड़े होकर ये सब भालू को उसकी रिश्तेदार की साथ करते हुए देखा था। जो बहुत ही घिनौना था।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *