कोरोना की वजह से लोगों की धड़ाधड़ मौत हो रही है। क्या यह प्रलय से पहले की आहट है? जानिए

प्रलय की आहट तो काफी पहले ही शुरू हो गयी थी, जब-

जब मनुष्य ने जंगलों को नष्ट करने शुरू कर दिया था

जब कार्बन उत्सर्जन के कारण वातावरण का टेम्परेचर बढ़ने लगा था

जब ऊंचे पहाड़ों की बर्फ पिघल कर समुद्र तल बढ़ने लगा था

जब ओज़ोन परत में छेद हो गए थे

मनुष्य ने अपनी जरूरतों के लिए जम कर प्रकृति का दोहन किया, कई जीवों की प्रजातियां इस कारण नष्ट हो गयी। प्रकृति अपना संतुलन बनाये रखने के लिए संकेत देती रही जैसे बिन मौसम बारिश, ठंड और बर्फबारी, ओले की बारिश और ऊपर लिखे पॉइंट्स – लेकिन मनुष्य ने प्रकृति की भरपाई करने की बिल्कुल भी कोशिश नहीं की।

अब भुगतना तो पड़ेगा ही, देखते हैं क्या होता है !

Leave a Reply

Your email address will not be published.