कोरोना वैक्सीन: फरवरी तक आ सकते हैं दो-दो टीके, आधी कीमत पर खरीदेगी सरकार

भारत सरकार प्राथमिकता के आधार पर जनसंख्या के चार समूहों को
कोरोना वायरस का टीका लगाना चाहती है। इसके लिए करीब 50 से
60 करोड़ डोज की जरूरत होगी।

देश के फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर्स के
लिए अगले साल जनवरी या फरवरी की शुरुआत में कोरोना वायरस
का टीका उपलब्ध हो सकता है। सरकार की तैयारी सीरम इंस्टिट्यूट
ऑफ इंडिया (SI) की वैक्सीन को इमर्जेंसी यूज के लिए अप्रूवल देने
की है। वह इंतजार कर रही है कि यूके में ऑक्सफर्ड-एस्ट्राजेनेका
के इस टीके को इमर्जेंसी अप्रूवल मिल जाए।

SII ने एस्ट्राजेनेका के
साथ पार्टनरशिप कर रखी है। वहीं, देश में बनी कोविड वैक्सीन यानी
भारत बायोटेक की Covaxin को भी फरवरी तक इमर्जेंसी अप्रूवल
दिया जा सकता है।

यानी फरवरी 2021 तक देश में कोविड-19 के
दो-दो टीके उपलब्ध हो सकते हैं सीरम इंस्टिट्यूट दिसंबर में भारतीय
रेगुलेटर के सामने इमर्जेंसी अप्रूवल के लिए अप्लाई कर सकता है।
एक अधिकारी ने कहा, “अगर सबकुछ प्लान के मुताबिक होता है
और कंपनी (SII) दिसंबर में इमर्जेंसी ऑथराइजेशन पा लेती है तो हम
जनवरी-फरवरी में वैक्सीन की पहली खेप की उम्मीद कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.