कौनसा मांसाहारी भोजन कच्चा खाया जा सकता है?

पाषाण काल में हमारे पूर्वज प्रत्येक वस्तु कच्ची ही खाया करते थे. क्योंकि उस समय खाना पकाने की कोई व्यवस्था अग्नि इत्यादि नहीं थी, आदिमानव शाक-सब्जियों से लेकर मांस तक, सभी कुछ कच्चा ही खाते थे।

आधुनिक युग मे विश्व के प्रत्येक देश में खान-पान की भिन्न भिन्न परंपराएं हैं, और सभी की स्वादग्रन्थियाँ भी विशिष्टता से भरी होती हैं,परन्तु आज भी अग्नि और समस्त सुविधाओं के होने के पश्चात भी माँस को कच्चा खाने के लिए व्यंजन बनाये गए हैं।

विश्व के कई देशों में मछली, गोमांस, , कीड़े मकोड़े, सांप, चूहे, शूकर यहां तक अंडों में या चौपायों के भ्रूण तक कच्चे खाये जाते हैं।
कच्चे मांस के विभिन व्यंजन

सुशी कच्ची मछली और चावल का बना एक व्यंजन है।

साशिमी(कच्चे शंख और चौपायों से) निर्मित होती है।

सवीचे , नींम्बू और कच्चा मछली या कोई अन्य मांस मेक्सिको से पेरू और चिली में खाये जाते है।

मुर्गे के मांस को भी कई देशों में कच्चा खाया जाता है।
बिल्टोंग, एक कच्चा सुखाया गया मांस है,जो कंगारू सहित विभिन्न प्रकार के पशुओं के मांस से बनता है।

टार्टर भी कच्चे मांस का व्यंजन है।

करपेशियो जिसमे अष्टपाद को भी कच्चा खाया जाता है।

मध में डाल कर झींगा, केकड़े और सांप इत्यादि को रखा जाता है और उन्हें कच्चा ही खाते हैं।
ओएस्टर , शेलफिश और कई अन्य समुद्री जीवो भी कच्चा खाया जाता है।

बटेर, मछलियों या मुर्गी के अंडे कच्चे खाये जाते हैं।
सॉसेज जिसमे गोमांस और सूअर के मांस, दोनों के पिसे मांस से बनाया जाता है, इसमें पशु वसा , नमक, जड़ी-बूटी और मसाले मिश्रित होते है, ये पिसा माँस पशु की आंत या कृत्रिम आवरण में भरा होता है।

अन्य कच्चे माँस के व्यंजन

वियतनाम , कंबोडिया और थाईलैंड के निवासियों को सफेद चींटी के अंडे प्रिय है, वहाँ सफेद चींटी के अंडे को सूप, अंडे, आंशिक भ्रूण और चींटियों के बच्चे को चीज़ के साथ मिश्रित कर के भी खाया जाता है।
फिलिपींस में बतख के अंडों के भ्रूण बनने पर उसे खाया जाता जाता है इसे खाने के लिए सर्वप्रथम अंडे को फोड़कर उसका तरल पदार्थ पिया जाता है, उसके पश्चात भ्रूण को खाया जाता है।
चीन, इंडोनोशिया सहित अन्य कुछ देशों में बंदर के मस्तिष्क को कच्चा खाने की परंपरा है।
चूहों के नवजात बच्चे का व्यंजन “थ्री स्क्वीक्स बेबीज” चीन में बहुत लोकप्रिय है ।
चीन में कच्चे गधे के व्यंजन भी बहुत प्रिय हैं।
सांप के सिर को काट कर उसकी त्वचा और आंतों को हटा कर सांप का कच्चा माँस खाया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.