क्या अच्छी दाढ़ी और मूंछ होना वाकई में मर्द होने का सूचक है या केवल एक भ्रांति है? जानिए

यदि औरत की दाढ़ी मूंछे आने लगे तो आपको कैसा लगेगा?बहुत बुरा और भद्दा लगेगा न,परन्तु पुरूष जाति बगैर दाढ़ी मूंछ के रहती है तो सबको बहुत अच्छा लगता है जबकि जिस प्रकार महिला का दाढ़ी मूंछ न आना प्राकृतिक है ठीक उसी प्रकार पुरूषों का दाढ़ी मूंछ आना प्राकृतिक है।प्रकृति यही चाहती है यही प्रकृति का नियम है ।

अंग्रेजों के आने से पहले भारत के लोग दाढ़ी-मूंछो में रहते थे,आपने देखा होगा कि लगभग सभी भारतीय रियासतों के राजा घनी दाढ़ी-मूंछो वाले होते थे।जब से अंग्रेज हमारे देश में आये तभी से दाढ़ी-मूंछ न रखने का चलन शुरू हो गया,क्योंकि उस दौरान अंग्रेज सत्ताधारी और शक्ति का प्रतीक थे।

इसलिए भारतीयों ने उनका नकल करना शुरू कर दिया,और अब ऐसा देखते-२ दिमाग में बैठ गया है कि बिना दाढ़ी मूंछो वाले लड़के खूबसूरत होते हैं;; क्योंकि जब कोई व्यक्ति अपने चारों तरफ एक ही प्रकार का हुलिया और रंगरूप देखने लगता है तो वह उसे पसंद करने लगता है।यदि हमारे आसपास के सभी इंसान नंगे होकर घूमने लग जांय तो हमें और आपको भी नंगे घूमने में कोई शर्म और झिझक नहीं होगी।

अंततः निष्कर्ष यही निकलता है कि मूंछ और दाढ़ी पुरूषों की शोभा है,क्योंकि प्रकृति भी यही चाहती है.कि पुरूष जाति दाढ़ी मूंछो वाले लुक में रहे।दाढ़ी मूंछो के रहने का फायदा भी है इससे पुरूषों का चेहरा सूर्य की हानिकारक विकिरण से सुरक्षित रहता है इसके अलावा कील,मुहांसो,दाग,झाइयों से भी बचाव होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.