क्या आप छत पर सब्जी उगाने का तरीका बता सकते हैं?

घर की छत पर सब्ज़ियां लगाने से पहले छत पर एक मोटी प्लास्टिक चादर बिछा दें फिर इटों या लकड़ी के पट्टियो से चारदीवारी बना लें उसमे सामान रूप से मिटटी बिछा दे और पानी की निकासी भी रखें। छत पर सब्जी लगाने से गर्मी के दिनों में आपका घर भी ठंडा रहता है। छत पर पुराने सिंक, टब, बाल्टियों, बोरियों, डिब्बों, पेटियों का सदुपयोग हो सकता है और थोड़ा सा प्रयत्न करने पर आप मेथी, पालक, हरा धनिया, पुदीना, सलाद ही नहीं, टमाटर, बैंगन व गोभी आदि सभी सफलतापूर्वक उगा सकते हैं। आप पात्र कोई भी चुनें, उसमें पानी के निकास की भरपूर व्यवस्था अवश्य करें।

मिट्टी भारी व चिकनी नहीं होनी चाहिए। दो भाग पुरानी मिट्टी, एक भाग गोबर की अच्छी पुरानी खाद व एक भाग पत्ती की पुरानी खाद व कुल तैयार खाद में दसवां भाग नीम की खली का चूरा मिला दें। मिट्टी न मिलने की स्थिति में नदी की मोटी वाली बालू रेत अथवा बदरपुर की मोटी वाली बजरी में पत्ती व गोबर की खाद मिला कर सब्जियों को सफलतापूर्वक उगाया जा सकता है।

चुकंदर, बैंगन, टमाटर, मिर्च, गोभी परिवार के बंदगोभी, फूल गोभी, गांठ गोभी, ब्रसल्स स्प्राउट, ब्रोकली आदि का पौधा एक गमले अथवा बाल्टी में एक ही लगाएं।हरा धनिया, सलाद, हरी प्याज आदि गमलों में उगाए जा सकते हैं।पत्तेदार सब्जियों को कैंची से काटें। पत्तों को चारों ओर से काटें, पर ऊपर वाला भाग कभी न काटें ताकि पौधे का विकास होता रहे।

छत पर भार, पानी रिसाव से बचने के लिए हाइड्रोपोनिक खेती का भी लाभ ले सकते हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *