क्या कारण थे कि स्वामी विवेकानंद बहुत ही कम उम्र में इस दुनिया को अलविदा कर गए?

विवेकानंद की जिंदगी पर लिखी गई स्वामी विराजनंद की किताब के मुताबिक उनकी मौत मस्तिष्क की नस फटने के कारण हुई थी.

उनके शिष्यों के मुताबिक विवेकानंद की मृत्यु ब्रह्मरंध्र की वजह से हुई

विवेकानंद की मृत्यु को लेकर आम लोगों के बीच अक्सर बातचीत की जाती है.

कहा जाता है कि उनकी मौत बीमारी की वजह से हुई या अत्यधिक ध्यान की वजह से.

उनके शिष्य पूरे जीवन ये मानते रहे कि विवेकानंद ने बीमारी नहीं बल्कि ध्यान की अंतिम पड़ाव की वजह से शरीर छोड़ा.

हालांकि बीमारियों की वजह से विवेकानंद का चलना-फिरना कम हो गया था इसके भी कई प्रमाण हैं.

1901 की धर्म संसद में हिस्सा न लेना भी इससे ही जुड़ा हुआ एक तथ्य है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.