A small mistake in Aadhaar number will be heavy, may have to be filled with 10000 scissors

क्या कारण हैं कि आधार कार्ड में लगभग हर इंसान का फोटो खराब ही आता हैं? क्या कोई ऐसा खुशनसीब प्राणी हैं जिसका फोटो अच्छा आया हो?

खूबसूरत से खूबसूरत इंसान की फोटो भी आधार कार्ड में खराब आती है। कभी कभी सोचता हूं । प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की आधार कार्ड में तस्वीर कैसी आई होगी?

खैर जो जैसी भी आईं होगी अच्छी ही आई होगी। क्यूंकि वो PM है।

अब आते है सवाल पर कि फोटो खराब क्यों आती हैं।

मेरा एक दोस्त जिसका आधार सेंटर है ।वो आधार कार्ड बनाता है। और उसमे सुधार भी करता है। तो शायद मैं आपको इसका बेहतर जवाब दे पाऊंगा।

आधार कार्ड में खराब फोटो आने का पहला कारण है, खराब कैमरे का उपयोग करना। अधिकतर जगहों पर एक छोटे व कम कीमत के वेबकैम का उपयोग होता है।जो ज्यादा अच्छी तस्वीर नहीं खींच पता है। उससे यदि आप नॉर्मल तस्वीर भी लेंगे तो भी धुंधली और काली आएगी।

दूसरा कारण ये है कि उस जगह अच्छी लाइट की व्यवस्था ना हो। जैसा कि अधिकतर जगह एक या दो ब्लब या ट्यूबलाइट होती है। जो पर्याप्त लाइट न दे। और कैमरा लाइट या फ़्लैश लाइट काफी महंगी मिलती है।और कोई भी इतना पैसा खर्च नहीं कर पाता । क्योंकि आधार सेंटर में इतनी आमदनी भी नहीं होती।

तीसरा कारण कंप्यूटर सिस्टम है।कंप्यूटर आपकी तस्वीर को कंप्रेस कर देता है।क्योंकि भारत में लगभग 100 करोड़ लोगो का आधार बनाया जा चुका है।और इतने सारे लोगो का डाटा जब स्टोर करते है तो उसके लिए काफी ज्यादा स्टोरेज की आवश्यकता पड़ती है। और उसे मैनेज करना भी मुश्किल होता है। इसलिए आपकी ईमेज की साइज को छोटा कर दिया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.