क्या कोई कप्तान सौरव गांगुली के बराबर बलिदान दे पाएगा ?

कप्तान के तौर पर सौरव के जितना बलिदान कोई और नहीं से सकता । गांगुली ने हमेशा टीम हिट को सर्वोपरि माना । उस महान कप्तान की वजह से टीम में बहुत सारे खिलाड़ियों को मौका मिला ।

जो आगे चलकर महान खिलाड़ी बने । सहवाग ने कहा कि ”मैं गांगुली के त्याग को कभी नहीं भूल पाऊंगा। टेस्ट में क्रिकेट में मुझे जगह देने में उनका अहम रोल रहा है। मैंने टेस्‍ट क्रिकेट में जो तीहरा शतक जमाया है उसका श्रेय सौरव को जाता है।

गांगुली ने फैसला लिया कि वे धोनी को अपनी जगह तीसरे नंबर पर खेलने का मौका देंगे। गांगुली ने अपनी पोजीशन के बारे में कभी नहीं सोचा । उन्हीं की कप्तानी में और भी महान प्लेयर्स आए जैसे जहीर खान , हरभजन सिंह , युवराज सिंह , इरफान पठान । गांगुली हमेशा नए खिलाड़ियों को मौका देते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.