क्या जरूरत थी C टाइप चार्जर बनाने की जब मोबाइल तो B टाइप से भी चार्ज हो रहा था?

आज हम आपको बताएंगे कि क्यों मौजूदा समय में आ रहे सभी स्मार्टफोन में USB 2.0 पोर्ट के बदले USB Type C पोर्ट दिया जा रहा है। इसके अलावा हम आपको बताएंगे कि क्यों USB Type C फोन को चार्ज करने से लेकर डाटा ट्रांसफर करने तक में USB 2.0 पोर्ट के मुकाबले कहीं ज्यादा बेहतर है। इसके अलावा यह भी जानेंगे कि क्यों USB Type C मौजूदा समय में कनेक्टिविटी का बन चुका है नया ट्रेंड,

USB Type C से होती है तेज चार्जिंग-

मौजूदा समय में आपको ज्यादातर स्मार्टफोन्स USB Type C फास्ट चार्जिंग स्पोर्ट के साथ आते हैं। दरअसल, माइक्रो USB 2.0 पोर्ट के मुकाबले USB Type C ज्यादा तेजी से स्मार्टफोन को चार्ज करता है। इसका सबसे बड़ा कारण पावर ट्रांसमिशन है।

माइक्रो USB 2.0 पोर्ट से ज्यादा से ज्यादा 20 वाट की पावर ट्रांसफर होती है। वहीं, USB Type C से आप 100 वाट तक की पावर को ट्रांसफर कर सकते हैं। यानी USB Type C से आप पांच गुना तक तेज अपने स्मार्टफोन को चार्ज कर सकते हैं।

आज के समय में स्मार्टफोन्स में ज्यादा रैम और प्रोसेसर दिए जा रहे हैं। ये स्मार्टफोन्स ज्यादा बैटरी की खपत करते हैं। ऐसे में इन स्मार्टफोन्स में ज्यादा एमएएच की बैटरी दी गई होती है जिन्हें तेजी से चार्ज करने के लिए USB Type C पोर्ट दिया जाता है।

सीधे-उलटे का झंझट खत्म-

USB 2.0 में उल्टा या सीधा देखकर आपको प्लग इन करना पड़ता था। इसके चलते कई बार गलती ये यह पोर्ट टूट भी जाता था। लेकिन USB Type C पोर्ट में सीधे-उलटे का झंझट नहीं होता है। आप इस पोर्ट को उल्टे या सीधे दोनों तरफ से प्लगइन कर सकते हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *