क्या नए वर्ष में चेक से भुगतान करने के तरीके बदल जाएंगे? जानिए

Spread the love

अगले वर्ष यानी नए साल की शुरुआत 1 जनवरी, 2021 से चेक पेमेंट एक बड़ा बदलाव होने जा रहा है जिसके अंतर्गत 50,000 रुपये से अधिक धनराशि वाले चेक के लिए पॉजिटिव पे सिस्टम (सकारात्मक भुगतान व्यवस्था) लागू हो जाएगी। इसका उद्देश्य चेक के माध्यम से देश में तेजी से बढ़ते बैंकिंग धोखाधड़ी रोकना है.

क्या है पॉजिटिव पे सिस्टम ( सकारात्मक भुगतान व्यवस्था) ?

इस व्यवस्था के अंतर्गत चेक जारी करने वाले व्यक्ति को अपने बैंक को इस चेक का विवरण बताना पड़ेगा जैसे चेक कर नंबर, जारी करने का दिनांक, धनराशि, प्राप्तकर्ता का नाम, प्राप्तकर्ता की खाता संख्या आदि.

31 दिसंबर तक जारी किए गए चेक जो 1 जनवरी या इसके बाद भुगतान के लिए प्रस्तुत किए जाएंगे उन पर भी यह नियम लागू होगा . इसलिए सभी खाताधारकों को ऐसी सभी चेकों का विवरण भी देना होगा जो 31 दिसंबर तक भुगतान नहीं किए गए हैं.

यह जानकारी एसएमएस, मोबाइल एप, इंटरनेट बैंकिंग और एटीएम के माध्यम से जा सकती है जिसे एक बैंक के सिस्टम में फीड किया जाएगा.

चेक भुगातन के समय इस जानकारी की जांच की जाएगी अगर प्रस्तुत की गई चेक का विवरण इस विवरण से मेल खाता है तो चेक का भुगतान किया जाएगा अन्यथा उसे वापस कर दिया जाएगा.

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) पॉजिटिव पे सिस्टम को विकसित कर इसे सदस्य बैंकों को उपलब्ध कराएगा।

केवल वे चेक जो नए नियम के तहत आएंगे वे ही सीटीएस तंत्र के तहत स्वीकार किए जाएंगे।

सभी बैंकों को चेक क्लियर या संग्रह में नए नियम को लागू करना अनिवार्य होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *