क्या हम मैरियाना गर्त में नीचे तक जा सकते हैं? जानिए

मैरियाना गर्त का संक्षिप्त परिचय प्रशांत महासागर में स्थित यह गर्त 11 किमी गहरा है और घोर अंधकार में डूबा रहता है, यदि हम माउंट एवरेस्ट को इसमें डाल दें तो भी पानी माउंट एवरेस्ट के ऊपर 3 किमी तक चढ़ जायेगा।

अकल्पनीय दबाव मैरियाना गर्त के तल पर लगभग 8 टन प्रति इंच पानी दबाव डालता है। रिटायर्ड अमेरिकी नेवी आफिसर विक्टर वेसकोवो ने पनडुब्बी में बैठ कर मैरियाना ट्रेंच में 10.927 किमी तक उतरे थे, वहाँ इतना घनघोर अँधेरा था कि वो कोई फोटो नहीं ले पाये थे।

अगर हम गर्त में पनडुब्बी द्वारा जा कर नंगे बदन तल पर कूद जायें –

1 अत्यधिक ठंडे पानी की वजह से हाइपोथर्मिया हो जायेगा और खून गाढ़ा होकर जमने लगेगा।

2- आक्सीजन की कमी की वजह से सांस बन्द हो जायेगा।

3- पानी के अत्यधिक दबाव लगभग 16 हाथियों का दबाव एक इंऔच क्षेत्र पर पड़ने से फेफड़े फट जायेंगे, मुंह से पानी शरीर में भर जायेगा, और जबरदस्त दबाव के कारण इंसान 15/20 मिनट में मर जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.