क्या ICICI, HDFC, IDBI और UTI बैंक कभी सरकारी बैंक थे? यदि थे तो इनका निजीकरण कब और किस सरकार के कार्यकाल में हुआ है?

ICICI, HDFC, IDBI और UTI बैंक सभी की स्थापना प्राइवेट बैंक के रूप में की गई थी, इनमें से कोई भी बैंक स्थापना के समय सरकारी बैंक नहीं था.

स्वतंत्र भारत में केवल एक बैंक भारत सरकार के पूर्ण स्वामित्व पहले दिन से ही सरकारी बैंक रूप में स्थापित किया गया था उसका नाम था भारतीय महिला बैंक, और उसका भी विलय अब भारतीय स्टेट बैंक के साथ हो चुका है.

संक्षेप में इन बैंकों की स्थापना के बारे में जानने की कोशिश करते हैं-

  • आईसीआईसीआई बैंक की स्थापना प्राइवेट बैंक के तौर पर की गई थी और इसका प्रमोटर था इंडस्ट्रियल क्रेडिट एंड इन्वेस्टमेंट कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया जो भारत सरकार की कंपनी थी पर जिसका उद्देश्य औद्योगिकीकरण में बड़े निवेशकों को टर्म लोन उपलब्ध कराना और राज्य सरकार के वित्तीय निगमों को भी संसाधन उपलब्ध कराना था. 1991 में शुरू हुए उदारीकरण के दौर में जून 1994 में आईसीआईसीआई ने प्राइवेट बैंक के रूप में आईसीआईसीआई बैंक की स्थापना की थी. निगम की वित्तीय स्थिति अच्छी नहीं थी इसलिए 31 मार्च 2002 को आईसीआईसीआई ( पैरेंट ) का विलय ( मर्जर) आईसीआईसीआई बैंक में कर दिया गया । यह ऐतिहासिक मर्जर था जिसमें पैरंट कंपनी का बिलय सब्सिडरी कंपनी में किया गया था.
  • एचडीएफसी बैंक की स्थापना अगस्त 1994 में प्राइवेट बैंक के रूप में हाउसिंग डेवलपमेंट एंड फाइनेंस कारपोरेशन (एचडीएफसी) द्वारा की गयी थी, जो भारत सरकार की कंपनी थी. बाद में एचडीएफसी बैंक ने कई छोटे-छोटे बैंकों का अधिग्रहण किया जिसमें टाइम्स बैंक और सेंचुरियन बैंक भी शामिल है ।
  • आईडीबीआई बैंक की स्थापना प्राइवेट बैंक के रूप में इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट बैंक ऑफ़ इंडिया ( आईडीबीआई) द्वारा 1994 में की गई थी. आईडीबीआई पहले रिजर्व बैंक के और बाद में भारत सरकार के अधीन रहा. इसका उद्देश्य औद्योगिक विकास के लिए वित्तीय संसाधन उपलब्ध कराना था. रिजर्व बैंक द्वारा आईडीबीआई को 2004 में शेड्यूल्ड बैंक का दर्जा प्रदान कर दिया गया. 2005 में आईडीबीआई का आईडीबीआई बैंक लिमिटेड में विलय हो गया और इस प्रकार. इस विलय के बाद आईडीबीआई बैंक प्राइवेट बैंक से पब्लिक सेक्टर बैंक हो गया लेकिन भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा इस बैंक की 51% शेयर खरीदने के बाद 21 जनवरी 2019 से इसे पुनः प्राइवेट बैंक वर्गीकृत कर दिया गया.
  • यूटीआई बैंक की स्थापना प्राइवेट बैंक के रूप में यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया, भारतीय जीवन बीमा निगम तथा भारतीय सामान्य बीमा निगम द्वारा संयुक्त रुप से 1993 में की गई थी. बाद में इसका नाम बदलकर एक्सिस बैंक कर दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.