क्रिकेटर सुरेश रैना के करियर का पतन क्यों और कैसे हुआ? जानिए

भारतीय टीम के एक अच्छे बल्लेबाज रहे हैं और कभी-कभी तो गेंदबाजी भी कर लेते थे। रैना की गिनती शानदार क्षेत्ररक्षकों मे होती थी । विश्व कप 2011 और चैंपियंस ट्रॉफी 2013 मे उनका अहम योगदान रहा था। रैना विश्व कप 2015 में भारतीय टीम के अहम सदस्य थे। धोनी की कप्तानी में रैना को लगातार मौके मिल रहे थे।

अगर रहना एक दो मैचों में रन ना भी बना पाए, फिर भी उन्हें टीम में मौका दिया जाता था। फिर विराट कप्तान बने, और इसके बाद रैना का प्रदर्शन उतना काबिले तारीफ नहीं रहा और उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया, और यहां तक कि 2017 चैंपियन ट्रॉफी में उन्हें जगह नहीं मिली। इस बीच रैना टीम में अंदर बाहर हो रहे थे।

2019 विश्व कप की तैयारी के लिए रैना की जगह पर लगातार युवाओं को मौके दिए गए , और रैना को लगातार ही नजरअंदाज किया गया और 2019 विश्व कप में रैना की दावेदारी नहीं मानी गई। हालांकि रैना टी-20 विश्व कप मे अपनी दावेदारी पेश कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.