खाना खाने के बाद मीठा क्यों खाते है और मीठा खाने के क्या फायदे है?

जब आप अपने खाने की शुरुआत मसालेदार, तीखा या नमकीन खाने से करते है तो आपका शरीर पाचक रस और एसिड (अम्ल का रिसाव) जारी करता है, जिसके कारण पाचन क्रिया (disgust) बढ़ती है।

स्पाइसी खाना खाने से यह भी निश्चित हो जाता है कि आपका पाचन सही से हो रहा है की नहीं। वही दूसरी ओर मीठी चीजों में कार्बोहाइड्रेड की मात्रा ज्यादा होती है जो पाचन क्रिया को संतुलित करता है।

खाना खाने के बाद मीठा खाने के फायदे –

खाना खाने के बाद अक्सर मीठा (Sweets) खाया जाता है।आप चाहे घर पर खाइये या बाहर। मीठा खाने की फरमाइश हर जगह होती है। यह भारतीय संस्कृति यानि पुरातन काल से ही परंपरा चलती आ रही है।

आपने सोचा है ऐसा क्यों ? अगर नहीं, तो आज आप इस लेख के द्वारा जानेंगे कि क्यों भोजन के बाद मीठा खाया जाता है-

मीठा खाने से खुशी मिलती है –

खाने के बाद मिठाई खाने से एमिनो एसिड ट्रिप्टोफैन के अवशोषण को बढ़ाता है। ट्रिप्टोफैन को सेरोटोनिन लेवल बढ़ाने के लिए जाना जाता है। सेरोटोनिन एक न्यूरोट्रांसमीटर है,

जो खुशी के भावना से जुड़ा है यानि मीठा खाने के बाद सेरोटोनिन का स्तर बढ़ जाता है जो आपको खुशी और मन को प्रसन्न कर देता है।

ब्लड प्रेशर सही रहता है –

कभी-कभी भोजन स्वादिष्ट होने पर या अच्छी डिश होने पर अधिक मात्रा में खा लिया जाता है तो भारी भोजन के बाद हाइपोग्लाईसीमिया होने का चांस बढ़ जाता है फिर जब आप मीठा खाते है तो ब्लड प्रेशर कम होने की सम्भावना बढ़ जाती है इसलिए खाना खाने के बाद मीठा खाने की सलाह दी जाती है।

गैस या पेट में जलन नहीं होती –

खाने के बाद मीठा खाने से अम्ल की तीव्रता कम हो जाती है जिससे पेट में गैस और एसिडिटी की समस्या नहीं होती। पेट में जलन की समस्या हो तो मीठा खाने से यह समस्या दूर हो जाती है।

(Is It Good For Health To Eat Sweets After Meals)

➤मीठा खाने से लोगो को एक्टिव रहने के लिए प्रोत्साहन मिलता है।

➤खाने के बाद मीठा खाने से स्मोकिंग की लत छूटती है।

➤भोजन के शुरुआत में तीखा खाने से जठराग्नि बढ़ जाता है जिससे कारण भूख खुल के लगती है।

कौन सा मीठा खाये –

➤खाने के बाद मीठा खाने के फायदे तो आप सब तो जान गये होंगे लेकिन वाइट शुगर यानि चीनी या चीनी से बनी मिठाईयों से बचना चाहिए। ये सेहत के लिए नुकसानदायक होते है।

➤व्हाइट शुगर की जगह आप ब्राउन शुगर या ब्राउन शुगर से बनी मिठाईयों का सेवन कर सकते है या नारियल का शुगर भी खा सकते है।

➤मीठे में थोड़ी मात्रा में गुड़ (Gud) या गुड़ से बने मिठाई भी खा सकते है।

➤मिश्री और सौफ को मिलाकर खा सकते है।

➤मीठे का मतलब उन पदार्थो से है जिनकी तासीर मधुर होती है जैसे -केला, आम, अंगूर, मुनक्का, शहद, गुड़, मेवे में बादाम, अख़रोट, काजू, आदि इन सभी का स्वाद मधुर होता है। दूध और घी भी इसके अंतर्गत आता है।

मीठा खाने से पहले ध्यान देने योग्य बातें – (Precautions)

➤चीनी (sugar) से बने मिठाई (sweets) बिल्कुल ना खाये क्योकि इसमें कैलोरी की अधिक मात्रा होती है। अधिक कैलोरी लेने से मोटापा और डायबिटीज का खतरा बढ़ सकता है।

➤वाइट शुगर के बने मिठाईयां खाने से हड्डियों पर असर पड़ता है और आपके काम करने की क्षमता को भी कम कर देता है।

➤खाने के बाद इन सब मीठे से दूर रहिये (Sweets recipe) जैसे – केक, पेस्ट्री, डोनट, तले हुए मिठाई, आइसक्रीम, कैंडी (Sweets name) आदि सबमें शक़्कर भरे होते है। साथ ही केमिकल भी मिलाये जाते है। कम कैलोरी के चक्कर में शुगर फ्री या कृत्रिम शक़्कर आदि मिलाये जाते है जो बहुत नुकसान करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.