गणेश जी की चमत्कारी मूर्ति – हर साल बढ़ रहा है आकार, जानिए क्यों

भगवान गणेश की महिमा का जितना बखान करे उठना ही कम है | हर शुभ और मांगलिक कार्य में सबसे पहले इन्हे ही निमंत्रण भेजा जाता है | भारत देश में इनके बहुत सारे मंदिर है | एशिया की सबसे बड़ी गणेश मूर्ति इंदौर में बड़े गणेश मंदिर में लगी हुई है | मुंबई में सिद्धिविनायक का भव्य मंदिर है |

इसी क्रम में एक और गणेश जी का अनोखा और चमत्कारी मन्दिर ऐसा भी है जिसमे स्थापित मूर्ति का आकार हर साल बढ़ता ही जा रहा है | यह मंदिर आंध्रप्रदेश के चित्तूर जिले में कनिपक्कम गणपति मंदिर के नाम से प्रसिद्ध है |कनिपक्कम गणेश प्रतिमा आकार बढ़ना

कनिपक्कम गणपति मंदिर मंदिर का चमत्कार
यहा दो चमत्कार जुड़े हुए है | पहला यह की मंदिर में जो गणेश प्रतिमा लगी हुई है , वो हर दिन बढती है | शायद यह गणेश जी का पहला मंदिर है जिसमे प्रतिमा ऐसी लीला रच रही हो | हमने पिछले लेखो में बताया था की एक शिवलिंग जिसका भी आकर लगातार बढ़ता ही जा रहा है | गणपति का पेट और घुटना इतना बढ़ गया है की भक्तो के द्वारा चढ़ाये गये पुराने कवच पहनना मुश्किल हो गया है |कनिपक्कम गणेश मंदिर नदी में

दूसरा चमत्कार यह है की यह मंदिर विध्नो को दूर करने वाला है जो नदी के बीचो बीच बना हुआ है | इस मंदिर में एक बार किसी व्यक्ति के दोनों हाथ काट के डाल दिए थे | फिर चमत्कार हुआ और हाथ फिर से जुड़ गये | तब से इस नदी को भी देवीय नदी का दर्जा प्राप्त है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.