गर्मियों में फोड़े-फुंसी से परेशान हैं तो ये देसी उपाय दिलाएंगे आसानी से छुटकारा

स्किन साफ सुथरी हो तो सभी को अच्छा फील होता है, लेकिन थोड़े भी दाग-धब्बे टेंशन का कारण बन जाते हैं। प्रदूषण, संक्रमण के वजह से बॉडी पर फोड़े-फुंसी हो जाते हैं और कई बार दर्द, जलन व खुजली भी होने लगती है। फोड़ा या फुंसी स्किन पर गांठ की तरह होता है जो कि पिम्पल जैसा नजर आता है। इस बारें में डॉक्टर्स का बोलना है कि आमतौर पर फोड़े-फुंसी बैक्टीरियल इन्फेक्शन के वजह से होते है। बैक्टीरिया जब बॉडी के भीतर जाता है तो इम्यून सिस्टम संक्रमण से लड़ने वाली सफेद रक्त कोशिकाओं को प्रभावित इलाके में भेज देती हैं। जैसे ही सफेद रक्त कोशिकाएं बैक्टीरिया पर हमला बोलती हैं, उसके समीप के ऊतक नष्ट हो जाते हैं। इससे वहां खाली स्थान बन जाता है और पस से भर जाता है। ऐसे कई घरेलू इलाज हैं, जिनसे सरलता से छुटकारा पाया जा सकता हैं। तो चलिए जानते है इन उपायों के बारें में…..

एलोवेरा : एलोवेरा बेहद लाभदायक हो सकता है। एलोवेरा को पीसकर उसमें हल्दी मिला ले और इस पेस्ट को प्रभावित स्किन पर लगाएं। इसे दिन में दो बार करें।

बेकिंग सोडा : बेकिंग सोडा संग नमक मिलाकर मिश्रण बनाकर फोड़े फुंसी को पकाने और उसका पस निकालने में सहायता मिलती है। इन्हें मिलाकर पानी संग पेस्ट बना ले और लगभग बीस मिनट रहने दें। फिर इस पेस्ट को हटाने से पहले हल्का सा दबाकर पस को बाहर निकाल लें। दिन में एक बार ही इस प्रोसेस को करें। बेकिंग सोडा एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल गुणों के वजह से संक्रमण से दूर रखता है।

तुलसी : एंटीबैक्टीरियल गुण वाली तुलसी फोड़े-फुंसी से राहत दिला सकती है। तुलसी की पत्तियों को पीसकर इसका लेप तैयार कर लें और फिर इस लेप को फोड़े-फुंसी पर लगा लें।

नीम : नीम का एंटी वायरल और एंटी फंगल गुण फोड़े-फुंसी को ठीक करने में साहयता करता है। इसके लिए नीम की पत्तियों को पीस लें और पेस्ट बना लें और इसे फोड़े-फुंसी पर लगाकर बीस मिनट तक रहने दें और फिर साफ पानी से धो लें। इस इलाज को दिन में 3-4 बार कर सकते हैं।

सेंधा नमक : सेंधा नमक में गर्म पानी मिलाकर प्रभावित स्किन को लगभग बीस से तीस मिनट उसमें रखें। यह प्रोसेस फोड़े फुंसी से होने वाले दर्द में भी आराम दिलाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.