5 mistakes of Govinda that ruined his career

गोविंदा की वो 5 गलतियां, जिन्होंने बर्बाद कर दिया उनका करियर

बॉलीवुड में ‘चीची’ के नाम से मशहूर सुपरस्टार गोविंदा कोई अनजाना नाम नहीं है। हिंदी फिल्मों को देखने वाला लगभग हर दर्शक गोविंदा को स्क्रीन पर देखकर जरूर हंसा होगा। अपनी कॉमिक टाइमिंग और शानदार डांस मूव्स से करोड़ों दिलों पर राज करने वाले गोविंदा इस समय भले ही गुज़रे ज़माने के सुपरस्टार हो गए हो लेकिन उनकी अदाकारी आज भी दर्शकों को लुभाती है।

आज गोविंदा पहले की तरह सुपरस्टार नहीं रहे। इस समय वह कम ही फिल्मों में नज़र आते हैं। लाइमलाइट से दूर हैं। अपनी पहले जैसी धमक और पॉपुलैरिटी खोने के लिए गोविंदा खुद ज़िम्मेदार हैं। वह सुपरस्टार तो बने लेकिन अक्षय कुमार, अजय देवगन, शाहरुख़ खान, सलमान खान और आमिर खान की तरह अपना स्टारडम बरकरार नहीं रख पाये।

अपने करियर के पीक पर रहने पर गोविंदा ने कई सारी ऐसी गलतियाँ की जिनकी वजह से उन्होंने अपना स्टारडम खो दिया। बीते 21 दिसंबर को उन्होंने अपना 56वां जन्मदिन मनाया। आइये जानते हैं कि गोविंदा ने अपने करियर में ऐसी कौन सी गलतियां की, जिसकी वजह से वह आज अपने करियर के इस मोड़ पर हैं।

लीड रोल की जिद

बढ़ती उम्र के साथ लीड रोल की मांग करना भी गोविंदा के करियर के लिए घातक सिद्ध हुआ। लीड रोल के चक्कर में उन्होंने कई सारी फ़िल्में गवां दी। उन्होंने अपने के इंटरव्यू में खुलासा भी किया था कि उन्हें फिल्म ‘देवदास’ में चुन्नीलाल का रोल ऑफर हुआ था लेकिन उन्हें यह रोल सपोर्टिंग लगा और उन्होंने यह फिल्म करने से मना कर दिया। बाद में यह रोल जैकी श्राफ ने किया जो आगे चलकर बहुत मशहूर हुआ।

ऐसी कई फिल्मे रहीं हैं जो लीड रोल की जिद की वजह से गोविंदा के हाथों से फिसल गयी। उनके समकालीन एक्टर अनिल कपूर और संजय दत्त ने सपोर्टिंग रोल को मना नहीं किया। आज ये दोनों फ़िल्में कर रहें हैं। यही चीज़ गोविंदा ने मिस कर दी।

राजनीति में प्रवेश करना

ऐसा देखा गया है कि जब एक्टर अपने करियर के ढलान पर होता है तो वह राजनीति में उतरता है। लेकिन गोविंदा अपने करियर के पीक पर ही राजनीति में प्रवेश करने का फैसला किया। उन्होंने कांग्रेस पार्टी की तरफ से चुनाव लड़ा, वह जीते भी लेकिन उनका फ़िल्मी सफ़र राजनीति के चक्कर में कहीं थम सा गया। हालांकि गोविंदा को बाद में महसूस हुआ कि राजनीति ने उनके करियर को बर्बाद कर दिया। इसके बाद वह फिल्मों में वापस तो आये लेकिन पहले जैसी धमक नहीं जमा पाए।

डेविड धवन से अनबन

बॉलीवुड में एक समय था जब डेविड धवन और गोविंदा की जोड़ी मशहूर थी। यह जोड़ी बॉक्स ऑफिस पर हिट मानी जाती थी। दोनों ने साथ में लगभग 20 फिल्मों में काम किया। इस हिट जोड़ी ने कई सारी ब्लॉकबस्टर फिल्में दी जैसे ‘हीरो नंबर 1’ ‘कूली नंबर 1’ ‘शोला और शबनम’। बतां दे कि इस जोड़ी की आखिरी फिल्म ‘पार्टनर’ थी जो कि साल 2007 में आई थी। गोविंदा का जब से डेविड धवन के साथ रिश्ता ख़राब हुआ तब से वह फिल्मों में अपना चार्म वापस नहीं ला पाए।

सलमान के साथ मनमुटाव

सलमान और गोविंदा की दोस्ती की मिसाल बॉलीवुड में दी जाती थी। दोनों ने ‘पार्टनर’ फिल्म साथ में की है जो सुपरहिट साबित हुई थी। लेकिन एक समय ऐसा भी था जब सलमान और गोविंदा में मनमुटाव हो गया था। इस मनमुटाव का कारण था कि सलमान गोविंदा की बेटी को दबंग फिल्म से लांच करने वाले थे लेकिन जब ऐसा नहीं हुआ तो दोनों के रिश्तों में दरार आ गयी। इसका असर गोविंदा के करियर पर भी पड़ा।

गोविंदा की फिटनेस
आजकल के सभी एक्टर चाहे वो सपोर्टिंग हो या लीड, सभी फिट नज़र आते हैं। एक समय ऐसा था जब गोविंदा काफी मोटे हो गए थे। उनका मोटापा भी उनके लिए काफी नुकसानदेय साबित हुआ। उन्हें लीड रोल में फ़िल्में मिलनी बंद हो गयी। बाद में लोगों की यही सोच भी बन गयी कि ऐसी फिटनेस वाले एक्टर साइड रोल ही कर सकते हैं। बेदर्द बॉलीवुड ने फिटनेस की वजह से गोविंदा को स्टारडम से दूर कर दिया।

इसमें कोई दो राय नहीं है कि गोविंदा एक शानदार एक्टर है। उनके जैसा एक्टर शायद ही कोई पैदा होगा। लेकिन अगर गोविंदा ने समय को ध्यान में रखकर अपने आप को बदला होता तो आज उनके फैन्स उनकी अदाकारी को पर्दे पर देख रहे होते।

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published.