छात्र ने कचरे से बना डाले 600 ड्रोन, सोशल मीडिया पर हो रही चर्चा,जानिए इसके बारे में कि कौन है ये लड़का

आज हम आपको एक ऐसे छात्र के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने कचरे का उपयोग करते हुए करीब 600 ड्रोन तैयार कर दिए । इस छात्र का नाम प्रताप हैं और ये छात्र आजकल सोशल मीडिया पर काफी छाया हुआ हैं । प्रताप के ये 600 ड्रोन एक ऐसा आविष्कार है जो ई-कचरे में बना है और ये उड़ते हुए तस्वीरें ले सकता है । प्रताप ने 14 साल की उम्र में इस आविष्कार को बनाने की ठानी थी। प्रताप मैसूर के जेएसएस कॉलेज से ग्रैजुएशन कर रहे हैं। इसके साथ ही आपको बता दें कि, प्रताप को करीब 80 बार शुरूआत में नाकामी मिली मगर आखिरकार उसे कामयाबी मिल ही गइ्र ।

प्रताप ने ड्रोन तैयार कर लिया लेकिन जब उन्होंने इसके बारे में बताना शुरू किया तब उन्हें गम्भीरता से नहीं लिया गया, इसके बाद प्रताप अपने ड्रोन को लेकर आईआईटी दिल्ली पहुंचे । यहां उन्हें दूसरा पुरस्कार मिला और यही से जापान के इंटरनेशनल ड्रोन प्रतियोगिता में उन्हें भागीदारी करने का मौका मिला । इसके बाद, दिसंबर 2017 में हुई इस प्रतियोगिता में प्रताप ने भारत के लिए स्वर्ण पदक जीता । इसके बाद 2018 में उन्हें जर्मनी में अलबर्ट आइंस्टीन इनोवेशन गोल्ड मेडल दिया गया

। इसके अलावा उन्हें टोक्यो की रोबोटिक्स एग्ज़िबिशन में स्वर्ण और चांदी दोनों पदक मिले हैं ।प्रताप ने 14 साल की उम्र में इस आविष्कार को बनाने की ठानी थी। प्रताप मैसूर के जेएसएस कॉलेज से ग्रैजुएशन कर रहे हैं। इसके साथ ही आपको बता दें कि, प्रताप को करीब 80 बार शुरूआत में नाकामी मिली मगर आखिरकार उसे कामयाबी मिल ही गइ्र । सरकार में प्रताप को प्राइज देने का निर्णय लिया है|

प्रताप ने ड्रोन तैयार कर लिया लेकिन जब उन्होंने इसके बारे में बताना शुरू किया तब उन्हें गम्भीरता से नहीं लिया गया | यह बहुत ही अच्छी बात है की हमरे भारत देश में ऐसे साइंटिस्ट है तो की कम मटेरियल में ड्रोन बना लेते है

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *