जानिए आखिर रोहित शर्मा और विराट कोहली में बड़ा बैट्समैन कौन है?

रोहित शर्मा विराट कोहली से पहले से टीम इंडिया के सदस्य हैं, पर देखा जाए तो रोहित शर्मा का प्रदर्शन शुरुवाती दिनों में कभी नियमित नहीं रहा। रोहित शर्मा को शायद टीम इंडिया में सबसे अधिक मौके मिले, शायद मुंबई लॉबी की वजह से। एक वक्त मुंबई से टीम इंडिया के आधे प्लेयर होते थे, फिर 2011 वर्ल्ड कप के बाद का दौर आया जब सचिन के बाद मुंबई से कौन का सवाल उठा तो? रोहित शर्मा को मुंबई का टॉर्च उठाने वाला बताया गया।

2011 वर्ल्ड कप के बाद टीम इंडिया में एक रिक्ति उत्पन्न हो गई थी, सचिन, द्रविड़, लक्ष्मण ने संन्यास ले लिया था और युवराज कैंसर से जूझ रहे थे। आने वाले एक दो वर्षो में सहवाग और गंभीर पर भी तलवारें लटक रहीं थी।

ऐसे में विराट कोहली ने मौके का फायदा उठाया और ऑस्ट्रेलिया दौरे पे वर्ष 2012 में शायद 300+ स्कोर को आराम से लगातार दो अवसरों पर चेज कर डाला।

विराट की परफॉर्मेंस चार पांच सालों तक हमेशा नियमित रही जबकि रोहित शर्मा अपने प्रदर्शन से टीम में अंदर बाहर होते रहे। आप अगर उस समय का स्पोर्ट्स आर्टिकल पढ़ेंगे तो पाएंगे कि लोगों ने हमेशा रोहित को मिलते मौकों की आलोचना की जबकि मुंबई के लॉबी के क्रिकेटर ने हमेसा उनकी प्रतिभा तारीफ करते हुए उनको मौके दिए जाने की वकालत की।

हालांकि ये सत्य है कि रोहित ने बाद के वर्षों में अपनी प्रतिभा के साथ न्याय करते हुए शानदार प्रदर्शन किया है और कर रहे हैं। परंतु ये भी एक कटु सत्य हुआ की रोहित अगर किसी और राज्य से या बोर्ड से खेले होते तो शायद आज टीम इंडिया में नजर नहीं आते है।

अब रही वर्तमान की बात तो, ये सही हैबकी विराट कोहली की कप्तानी उतनी अच्छी नहीं है, कई मौकों पर वो चूक जाते हैं।

पर मेरा मानना है को अगर सारे फॉर्मेट में एक कप्तान रहे (अगर वो सारे फॉर्मेट खेलता हो तो) तो टीम ज्यादा संगठित रहती है वरना टीम में राजनीति शुरू हो जाती है।

रोहित शर्मा ने निश्चित तौर पर आईपीएल में अपनी कप्तानी का लोहा मनवाया है, परंतु ये भी सत्य है उनकी मुंबई इंडियंस की टीम अन्य टीमों के मुकाबले ज्यादा संतुलित है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *