जानिए आखिर लॉ ऑफ अट्रैक्शन (आकर्षण का नियम) काम क्यों नहीं करता?

लॉ ऑफ अट्रैक्शन (आकर्षण का नियम) बिल्कुल काम करता है, ” अजगर करे न चाकरी पंछी करे न काम दास मलूका कह गए सबके दाता राम “ सदियों पुरानी इस कहावत पर अगर ध्यान दें , तो आप Law of Attraction को अच्छी तरह से समझ जाएंगे, फिर इस सिद्धांत के द्वारा आप लाभ प्राप्त कर सकते हैं,

  • अजगर के माध्यम से लॉ ऑफ अट्रैक्शन को समझने की कोशिश करते हैं,
    • हम सभी अजगर के बारे में जानते हैं कि अजगर का शरीर इतना भारी होता है कि वो दौड़ कर कोई शिकार नहीं पकड़ सकता है, शिकार के पीछे दौड़ने की उसकी क्षमता नहीं है,
    • गौरतलब है, तब भी अजगर भूखा नहीं रहता है और प्रकृति के द्वारा उसे भरपेट भोजन मिलता है,
    • अजगर बैठे-बैठे हिरन आदि जिन जानवरों का शिकार करता है, वह सब अजगर से बहुत तेज भागने वाले होते हैं, फिर भी अजगर के मुंह का निवाला बन जाते हैं,
    • लॉ ऑफ अट्रैक्शन (आकर्षण का नियम) अजगर को भोजन दिलाता है और उसकी भूख शांत करता है,
    • जब अजगर का पेट खाली होता है तो उसकी भूख बढ़ने लग जाती है, जब भूख बहुत तीव्र हो जाती है, तब उसके पूरे अस्तित्व से भोजन AttractAttractहोना शुरू हो जाता है यही है लॉ ऑफ अट्रैक्शन,

मनोकामना पूर्ति का विज्ञान भी ब्रह्मांड के इन्हीं सब नियमों पर आधारित है, प्रयागराज माघ मेले शिविर में ज्योतिषाचार्य आशुतोष वार्ष्णेयLawOfAttractionLawOfAttraction के बारे में इसी प्रकार समझाते हैं कि

  • अजगर की आंखों से एक खास तरह की ऊर्जा निकलना प्रारंभ हो जाती है, इसे सम्मोहन शक्ति भी कहा जा सकता है, अजगर के आंखों से निकलने वाली ऊर्जा के दायरे में जब कोई भी जानवर आ जाता है, तो वह सम्मोहन शक्ति उस जानवर को खींच लेती है,
  • अजगर के आंखों से निकलने वाली ऊर्जा तरंगे उस जानवर के दिमाग से उठने वाले विचारों को निष्क्रिय कर देती है, फलस्वरुप उस जानवर का दिमाग कुछ क्षण के लिए Inactive हो जाता है, सोचने समझने की शक्ति उसकी समाप्त हो जाती है, फिर वह जानवर खुली आंखों से सामने मौजूद अजगर को देखते हुए भी नहीं समझ पाता है और अपनी सुरक्षा के लिए अपने आप को दूर नहीं कर पाता है जिससे अजगर बड़ी आसानी से लपेट कर अपने जबड़े में फंसा कर उसे खा लेता है,
  • जब व्यक्ति की भूख प्रबल होती है, उसका विचार भी भूखा हो जाता है, उसकी दृष्टि भी भूखी हो जाती है, उसका श्रवण भी भूखा हो जाता है, पूरा अस्तित्व और रोम रोम भोजन की मांग करता है और ब्रह्मांड को उसको देना ही पड़ता है

लॉ ऑफ अट्रैक्शन आपके जीवन में घटित हो, आपको लाभ पहुंचाए इसके लिए आपके अंदर उस मनोकामना को पूरा करने की चाहत At Any cost होनी चाहिए, यानी कि आपको इच्छित वस्तु चाहिए ही चाहिए, किसी भी हाल में चाहिए, तब ब्रह्मांड को उसको आप तक पहुंचाना ही पड़ेगा, मूल स्रोत: इस उत्तर का मूल स्रोत मेरे द्वारा गुरुजी का सुना हुआ व्याख्यान है, जिसको मैंने काफी मेहनत से अपने शब्दों में लिखकर यहां प्रस्तुत किया है, अजगर वाला चित्र सोर्स गूगल इमेजेस है,जिस पर मैंने अपना परिचय लिखा है

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *