जानिए कब है सकट चौथ

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि भारत में बहुत सारे त्यौहार मनाया जाते हैं हर त्यौहार का अपना अपना महत्व होता है उन्हें त्यौहार में से एक है संकट चौथ संकट चौथ क्या होता है आज हम उसके बारे में बताने वाले हैं तो चलिए आपको उसके बारे में बताते हैं आपको बता दें कि संकट चौथ भारत के हिंदुओं का त्यौहार में से एक महत्वपूर्ण त्योहार है इस दिन भगवान गणेश की पूजा की जाती है भगवान गणेश को सभी देवता देवी देवता में प्रथम पूजनीय माना गया है.

आपको बता दें कि जो इस दिन भगवान गणेश की पूजा विधि विधान से करते हैं उनके सारे कष्ट दूर हो जाते हैं आइए जानते हैं इनके महत्व और शुभ मुहूर्त के बारे में संकट से मुक्ति पाना कौन नहीं चाहता इसलिए इस त्यौहार का नाम संकट चौथ रखा गया है संकट का मतलब है दुखों का अंत चौथ का मतलब है चौथे दिन हिंदू पंचांग के अनुसार प्रत्येक चंद्रमास में दो चतुर्थी होती हैं पूर्णिमा के बाद आने वाली कृष्ण पक्ष चतुर्थी के को संकटी चौथी कहते हैं।

और अमावस्या के बाद आने वाले शुक्ल को चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहते हैं इसके अनुसार ही यह त्यौहार मनाया जाता है आपको बता दें कि संकष्टी चतुर्थी के दिन सूर्य देव से लेकर चंदा के उदय होने तक व्रत रखा जाता है हिंदुओं के अनुसार इस दिन भगवान गणेश की पूजा करने की सभी नकारात्मक शक्तियों का नाश होता है घर में शांति आती है इसलिए इस दिन व्रत रखकर पुत्र को प्राप्त करने के लिए भगवान से प्रार्थना करती हैं और आपकी मनोकामनाएं पूरी होती हैं.

सकट चौथ : चन्द्रोदय : रात्रि 08 बजकर 27 मिनट है
चतुर्थी तिथि :31 जनवरी 2021 को रात्रि 08 बजकर 24 मिनट से शुरू 
1 फरवरी 2021 को शाम 06 बजकर 24 मिनट पर समाप्त

Leave a Reply

Your email address will not be published.