जानिए क्या जानवरों के भी कोई पाप पुण्य के कर्म होते हैं?

बिलकुल होते है, लेकीन पहले आप ये जान लीजिये की जानवरो की योनि किन कारणों से मिलती है, पूरी सृस्टि में कुछ जानवर ऐसे होते है जो सिर्फ अपना ही देखते है, जैसे बिल्ली, कुछ आपका और अपना दोनों का देखते है जैसे कुत्ता कुछ सिर्फ आपका ही देखते है जैसे गाय, हाथी इत्यादि, अब जानवर की योनी में भी मनुस्य ही मरने के बाद जाता है वो भी कर्मो के अनुसार, मनुस्य होकर जो दया, धर्म, और दान नहीं करते है।

उनको उनके बुरे और अच्छे कर्मो के अनुसार मनुस्य से लेकर जीव तक कुछ भी जन्म मिल सकता है, अब मान लीजिये कुत्ते की बात करते है १ कुत्ता वो है जो गली का है और हर कोई उसे मारता है, दूसरा भी गली का लेकिन लोगो को भरोषा है की ये गली की रखवाली करता है.

इसलिए इसे कुछा खाने को दिया जाय, तीसरा किसी का पालतू है तो पेडिगिरि मिल रहा है, तो कुत्ते का जन्म होना कर्मो पर आधारित है लेकिन ये तीन या ऐसे ही स्थितियां उसके कुछ पुण्य कर्मो के कारण होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.