जानिए क्रिकेट स्टेडियम में मैच देखने का अनुभव कैसा होता है?

देखिए स्टेडियम में जाकर मैच देखने का अनुभव आपको कही भी नही मिलेगा, अगर आप असली रोमांच महसूस करना चाहते हैं तो स्टेडियम में क्रिकेट मैच का लुत्फ उठाइए। मैं इसलिए कह रहा हूं कि मैं खुद तीन बार अरुण जेटली क्रिकेट स्टेडियम (फ़िरोज़शाह कोटला) में मैच देख चुका हूँ।

2 बार आईपीएल के मैच और एक बार भारत और न्यूजीलैंड के बीच एकदिवसीय मैच, जब आप स्टेडियम में होते हैं तो आपको पता चलता हैं वाकई में आप जैसे बहुत से क्रिकेट दीवाने हैं। टीवी में दिखाई देने वाला मैदान बड़ा दिखाई देता हैं, सभी खिलाड़ी आपको आपकी नजरों के सामने खेलते हुए दिखते हैं।

अगर आप शाम के समय का मैच देख रहे हैं तो स्टेडियम की रोशनी देखकर आप ये बिल्कुल भूल जाएंगे कि बाहर रात हो चुकी हैं, जरा सोचिए जब एक साथ पूरा स्टेडियम इंडिया-इंडिया के नारे लगाता हैं और आप भी उसमें शामिल होते हैं तो वो पल बेहद ही यादगार होते हैं।

हालांकि स्टेडियम में मैच देखने के कुछ नुक्सान भी हैं, इसमें आप बार-बार रीप्ले नहीं देख सकते टीवी की तरह, इनिंग ब्रेक में आप टीवी के रिमोट की तरह चैनल चेंज नहीं कर सकते, घर के सोफे पर लेट कर मैच नही देख सकते। लेकिन अगर आप सच्चे क्रिकेट प्रेमी हैं और वो भी खासकर भारतीय क्रिकेट टीम के तो एक बार किसी भी स्टेडियम में मैच देखने अवश्य जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.