जानिए गणतंत्र दिवस मनाने का क्या कारण है?

बात 1929–30 की है। अंग्रेजों के खिलाफ होने वाला स्वतंत्रता आंदोलन जोर पकड़ता जा रहा था। कांग्रेस जोर शोर से देख में राजनीतिक एकीकरण के प्रयास में लगी हुई थी। 1929–30 के कांग्रेस अधिवेशन में पूर्ण स्वराज्य का संकल्प पारित किया गया। जिसके अनुसार स्वतंत्रता आंदोलन का सिर्फ एक ही लक्ष्य है, पुर्ण स्वराज्य। उससे कम कुछ भी नही। दिनांक थी 26 जनवरी।

यह अपने आप मे एके एतिहसिक दिन था। इस दिन कांग्रेस ने स्वतंत्रता दिवस मनाया।

इस घटना से लगभग 20 साल बाद 1949 के आखिरी दिनों में भारत का संविधान बनकर तैयार हुआ। 26 जनवरी की इस महत्वपूर्ण याद को संजो कर रखने के लिए भारत का संविधान उसी दिन पारित किया गया।

तब से इस दिन को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.