जानिए ‘थाईलैंड’ के बारे में रोचक बातें

थाईलैंड (Thailand) का थाई भाषा में नाम “प्रथेत थाई” है जिसका अर्थ है “स्वतंत्र लोगों की ज़मीन” |

थाईलैंड (Thailand) दक्षिणी पूर्व एशिया का एकमात्र ऐसा देश है जो कभी किसी यूरोपीयन देश का उपनिवेश नही बना |

थाईलैंड (Thailand) को दशको से अनेक नामो से पुकारा जाता था | सौ वर्ष पहले ये अपने प्रमुख शहरों जैसे सुखोथोई ,अयुठाय्या और थोंबुरी नाम से जाना जाता था |

मई 2010 में थाईलैंड में धुली हुयी प्लेट की सबसे लम्बी लाइन बनाने का विश्व रिकॉर्ड बनाया है जिसमे वहा के लोगो ने 10,488 धुली हुयी प्लेटो को एक लाइन में रखा था | हालांकि यह रिकॉर्ड 6 अप्रैल 2011 को टूट गया जब भारत में 15,295 धुली हुयी प्लेट को एक लाइन में रखा था जो 2.36 मील लम्बी थी |

थाईलैंड चार देशो के साथ अपना बॉर्डर सांझा करती है जिसमे से उत्तर एवं पश्चिम में म्यांमार (Myanmar) , उत्तर-पूर्व में लाओस (Laos) ,दक्षिण-पूर्व में कम्बोडिया (Cambodia) और दक्षिण में मलेशिया (Malaysia) है |

थाईलैंड (Thailand) में विश्व की सबसे बड़ी सोने की बनी बुद्ध की मूर्ति , सबसे बड़ा मगरमच्छ का बाड़ा , सबसे बड़ा Restaurant , सबसे लम्बा झूलता हुआ पुल और विश्व की सबसे बड़ी लम्बी होटल है |

भूतकाल में राजा सहित सभी थाई पुरुष उनके २०वे जन्मदिन से पहले कुछ समय के लिए बुद्ध भिक्षु बनते थे लेकिन आजकल कुछ युवा ही इस प्रथा का पालन करते है |

थाईलैंड का सबसे बड़ा धर्म बौद्ध धर्म (Buddhism) है जहा 94.6 प्रतिशत आबादी बौद्ध धर्म का पालन करती है | मुस्लिम आबादी 4.6 प्रतिशत , इसाई आबादी 0.7 प्रतिशत और अन्य 0.1 प्रतिशत है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.