जानिए नौ विकेट खोकर सबसे अच्छे टेस्ट क्रिकेट चैस कौन से हैं?

टेस्ट क्रिकेट इतिहास में अब तक कुल 13 बार ऐसा हुआ है जब किसी टीम ने 9 विकेट खोकर टेस्ट मैच जीता है। इंग्लैंड ने पहली बार 1 विकेट से टेस्ट मैच जीतने का कारनामा किया था। यह टेस्ट मैच 11 अगस्त 1902 को इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच में ‘दि ओवल’ में खेला गया था। अंतिम बार 1 विकेट से टेस्ट मैच श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका को हराकर जीता है। यह मैच 13 फरवरी 2019 को डरबन में खेला गया था।

अगर टेस्ट क्रिकेट में 9 विकेट खोकर सबसे अच्छे चैज की बात करें तो मेरे मत में निश्चित तौर पर यह श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका के बीच 13 फरवरी 2019 को डरबन में खेले गए मैच को दिया जाएगा। क्योंकि श्रीलंका नेे दक्षिण अफ्रीका को उसी के घर में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ 10वें विकेट के लिए 78 रन की सबसे बड़ी साझेदारी देकर मैच जीता था। इससे पहले दसवें विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी देकर मैच जीतने का रिकॉर्ड पाकिस्तान के नाम था । पाकिस्तान ने 1994 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कराची में 10वें विकेट के लिए 57 रन जोड़कर 1 विकेट से मैच जीता था। श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका के 304 रनों के लक्ष्य को कुशल परेरा के 200 गेंदों में नाबाद 153 और विश्वा फर्नांडो के 27 गेंदों में नाबाद 6 रन की बदौलत 1 विकेट से हराया।

मैं श्रीलंका की इस जीत को 9 विकेट खोकर सबसे अच्छे चैज सिर्फ रनों के लिहाज से नहीं मान रहा हूं बल्कि इसके तीन कारण है –
1. दक्षिण अफ्रीका को उसी की सरजमीं पर हराना बहुत मुश्किल है यदि चेज 300 से अधिक हो तो और भी मुश्किल है।
2. श्रीलंका टीम को जिन दो बल्लेबाजों ने मैच जिताया, वो युवा और अनुभवहीन थे। कुशल परेरा का यह 15वां टेस्ट मैच था जबकि विश्वा फर्नांडो का चौथा मैच।
3. दक्षिण अफ्रीका के पास डेल स्टेन ( 92 मैच, 439 विकेट), वेरनॉन फिलेंडर ( 58 मैच, 217 विकेट) और कैगिसो रबाडा (36 मैच, 171 विकेट) जैसे दुनिया के सर्वश्रेष्ठ और अनुभवी गेंदबाजी आक्रमण था। वहीं, आईसीसी गेंदबाजी रैंकिंग पर नजर डाला जाए तो कैगिसो रबाडा रैंक 1, वेरनॉन फिलेंडर रैंक 4 और डेल स्टेन रैंक 26 पर काबिज था जबकि कुशल परेरा का बल्लेबाजी रैंकिंग 98 था।
इस मैच का संक्षिप्त स्कोरकार्ड इस प्रकार है-
दक्षिण अफ्रीका :- पहली पारी – 245/10 (क्विंटन डी कॉक 80, टेंबा बवुमा 47 , विश्वा फर्नांडो 4/62, कासुन रजिथा 3/68 ) और दूसरी पारी – 259/10 ( फाफ डू प्लेसिस 90, क्विंटन डी कॉक 55, लसिथ इम्बुलडेनिया 5/66, विश्वा फर्नांडो 4/71)

श्रीलंका:- पहली पारी- 191/10 कुशल परेरा 51, दिमुथ करुणारत्ने 30, डेल स्टेन 4/48, वेरनॉन फिलेंडर 2/32) और दूसरी पारी – 304/9 (85.3) ( कुशल परेरा 153*, धनंजय डी सिल्वा 48, विश्वा फर्नांडो 6*, केशव महाराज 3/71, डुएने ओलिवियर 2/35)

Leave a Reply

Your email address will not be published.