जानिए Andoid OS इतना लोकप्रिय क्यों है?

आज कल सभी के घर मे मोबाइल फ़ोन होता ही है । अगर हम भारत की बात करे तो यहाँ 60% से ज्यादा लोग मोबाइल का इस्तेमाल करते है उनमे से 40 % से ज्यादा लोगों के पास स्मार्ट फ़ोन है ।इससे अनुमान लगा ही सकते हैं कि स्मार्ट फ़ोन की लोकप्रियता हमारे भारत में कितनी है और ये बढ़ती ही जा रही है । आपलोग में से कितने लोगों को पता होगा कि भारतीय बाजार या विश्व बाजार में ज्यादातर फोन एंड्रॉयड ओ एस के ही होते हैं । दोस्तो आज हम Android OS की लोकप्रियता के बारे में जानेंगे ,लेकिन उससे पहले ये जानले की ये होता क्या है और ये काम कैसे करता है ।

[2] एंड्राइड ओ एस :- एंड्राइड ओ एस एक तरह का मोबाइल प्रचालन तन्त्र है। जो लिनक्स कर्नेल पे आधारित ।[3] इसका पहली बार 23 सितंबर 2008 को प्रक्षेपण किया गया था । मुख्य रूप से इसका आविष्कारक गूगल और किसी दूसरे निजी कंपनयों को माना जाता है। ये प्रचालन तन्त्र Java, C, C++, XML, Python, Shell Script ,G,make, D इत्यादि प्रोग्रामिंग भाषा में लिखी गई है।

दोस्तो ये तो हुई एंड्राइड क्या होता है इसके बारे में कुछ जानकारी , अब हम बात करेंगे कि यह इतना लोकप्रिय क्यों है।

Android OS इतना लोकप्रियर क्यों है ?

दोस्तों मैंने ऊपर भी कहा है कि एंड्राइड ओएस लिनक्स कर्नेल पर आधारित एक मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है। आपलोग लिनक्स का नाम तो सुने ही होंगे , अगर नही सुने तो मैं बताता हूँ।

लिनक्स:- लिनक्स एक ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसकी मदद से लैपटॉप या डेक्सटॉप चलता है । ये एक फ्री सॉफ्टवेयर है । इसे कोई भी बिल्कुल फ्री में अपने कंप्यूटर में इंस्टॉल कर सकता है इर इसका इस्तेमाल भी कर सकता है। इसे कोड के द्वारा इस्तेमाल किया जाता है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम को प्रोग्रामर लोग बहुत पसंद करते हैं, क्योंकि इस ऑपरेटिंग सिस्टम को हैक नही किया जा सकता है ।

[4] दोस्तों Android OS अगर इतना लोकप्रिय है तो इसका मुख्य कारण है लिनक्स कर्नेल के द्वारा विकसित तथा मॉडिफाइ करके बनाया जाना । इसे इस्तेमाल करना बहुत आसान है और इसे लिनक्स कर्नेल के द्वारा बनाया गया है इसलिए ये सुरक्छित भी है । ये पूरे विश्व में इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि ये ऑपरेटिंग सिस्टम बिना कोई खर्च के मिल जाता है इसलिए सभी मोबाइल कंपनियां इसी ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल करती है।

एंड्राइड हर साल अपने एक नए भर्जन को लॉन्च करता है ,अभी तक एंड्राइड की जितने भी भर्जन लॉन्च हुए है उसे मैं नीचे लिख दे रहा हूँ।

[5] Android 1.5: Android Cupcake
Android 1.6: Android Donut
Android 2.0: Android Eclair
Android 2.2: Android Froyo
Android 2.3: Android Gingerbread
Android 3.0: Android Honeycomb
Android 4.0: Android Ice Cream Sandwich
Android 4.1 to 4.3.1: Android Jelly Bean
Android 4.4 to 4.4.4: Android KitKat
Android 5.0 to 5.1.1: Android Lollipop
Android 6.0 to 6.0.1: Android Marshmallow
Android 7.0 to 7.1: Android Nougat
Android 8.0 to Android 8.1: Android Oreo
Android 9.0: Android Pie
ऊपर अगर किसी ने ध्यान से देखा होगा तो यह एंड्राइड के भर्जन का नाम अंग्रेजी के अल्फाबेट से लिये जा रहे हैं अभी तक P शब्द तक लिए जा चुके हैँ ,ऐसा कह सकते कि आने वाला एंड्राइड का नया भर्जन का नाम Q से ही सुरु होगा ,दोस्तों एंड्राइड दिन- प्रतिदिन फैलता ही जा रहा है । इस तरह से हम कह सकते कि एंड्रोइड का भविष्य उज्जवल है।

एंड्राइड ओएस के लोकप्रिय होने का कारण ( संछेप में) :-

अगर मैं संछेप में बोलू तो एंड्राइड ओएस का लोकप्रिय होने का मुख्य कारण ये रहा है कि ये दूसरे ऑपरेटिंग सिस्टम से सस्ते दामो में उपलब्ध है । और यर फ्री भी है क्योंकि ये लिनक्स कर्नेल पे आधारित है इसलिए इसे कोई भी मोबाइल बनाने बाली कंपनी इसका इस्तेमाल कर सकती है । इसलिए ये इतना लोकप्रिय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.