जीवित इंसान पानी में डूब जाता है और मरा हुआ इंसान पानी पर तैरता रहता है, इसके पीछे क्या कारण है?

जीवित मनुष्य को यदि तैराकी नहीं आती है और ऐसे स्थिति में पानी में गिर जाये तो वह पानी में डूब जाता है किंतु मृत शरीर पानी में डूबता नहीं है अपितु पानी की सतह पर तैरता रहता है। इस बात से आप सभी परिचित ही होगें जो मैंने अभी ऊपर कहा।

किंतु क्या आपने कभी सोचा है की आखिर ऐसा क्यों होता है की जीवित शरीर पानी में डूब जाता है किन्तु मृत शरीर डूबने की बजाय पानी की सतह पर तैरता रहता है। तो चलिए आज हम इस चर्चा में सम्मिलित होकर जानने का प्रयास करते हैं कि आखिर ऐसा होने का कारण क्या है?

दरअसल जिस किसी भी वस्तु का घनत्व पानी से ज्यादा होता है वह वस्तु पानी में आसानी से डूब जाती है। यही कारणहै कि जीवित शरीर पानी में डूब जाता है क्योंकि जिन्दा शरीर का घनत्व पानी से ज्यादा होता है।

फोटो गूगल से ।

डूबने के कारण हमारे शरीर के फेफड़ों में पानी तेजी से भरनें लगता है। परिणामस्वरूप डूबने वाले की मृत्यु हो जाती है। प्रारंभिक अवस्था में में मृत शरीर पानी में डूब जाती है किंतु जब वो मृत शरीर सड़ने लगता है तो उसमे से गैस निकलने लगती है और वो शरीर को पानी की सतह में ऊपर की तरफ धकेलती है।

डूबने वाले की मृत्यु के बाद हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली कार्य करना पूर्णतः बंद कर देती है और ऐसे में बॉडी का अपघटन (decompose) शुरू हो जाता है जिस कारण बैक्टीरिया मृत शरीर में स्थित कोशिकाओ और उत्तको को खंडित करना प्रारंभ कर देते हैं।

मृत शरीर में स्थित बैक्टीरिया धीरे धीरे नष्ट होने लगते हैं और उसके सथान पर विभिन्न गैसों जैसे – अमोनिया, मीथेन कार्बन डाइऑक्साइड, हाइड्रोजन इत्यादि को शरीर से बाहर निकालने लगते हैं।

क्रमशः शरीर सड़ता है वैसे-वैसे शरीर फूलता है लेकिन उसका भार (वजन) नहीं बढ़ता और ऐसे में जो गैस शरीर से बाहर निकलती हैं वो शरीर को पानी के सतह पर ऊपर की ओर धकेलती हैं और वो मृत शरीर पानी में डूबने की बजाय उस पर तैरने लगती है।

निष्कर्ष – यदि हम सरल भाषा में समझें तो मृत शरीर का घनत्व अधिक होने की वजह से पहले तो वह पानी में डूबता है लेकिन जैसे जैसे शरीर सड़ता है वैसे वैसे घनत्व कम होने लगता है और वह हल्का हो जाता है साथ ही उसमे कई तरह की गैसें बनने लगती है जिस कारण तैरने लगता है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *