जैसे फिल्म पहले से ही डायरेक्ट की जाती है, उसी तरह क्रिकेट के मैच होते हैं : सट्टेबाज

आज हम आपको बतायेंगे कि एक सट्टेबाज ने खुलासा किया कि जिस प्रकार से फिल्मों को पहले से डायरेक्ट की जाती हैं, उसी प्रकार से क्रिकेट के हर मैच होते हैं। क्रिकेट के हर मैच सटोरियों के अनुसार ही खेलें जातें हैं। इस खुलासे को करने वाले सट्टेबाज का नाम संजीव चावला हैं। संजीव चावला ने ये एक महत्वपूर्ण खुलासा किया हैं। उन्होंने कहा कि मैं की वर्षो से मैच फिक्सिंग में शामिल हूं। उन्होंने कहा कि इससे ज्यादा मैं और खुलासे नहीं कर सकता। क्योंकि इससे मेरी जान को खतरा हैं। इस बारे में अभी जांच जारी हैं। अभी इस बारे में कुछ ज्यादा कहा नहीं जा सकता। इस खबर में कितनी सच्चाई हैं, ये अभी हम कुछ बता नहीं सकतें। ये खबर अभी सूत्रों के मुताबिक आ रही हैं।

दक्षिण अफ्रीका फरवरी-मार्च 2000 में भारत दौरे पर आई थी। इस सीरीज में हुए मैच फिक्सिंग के मुख्य आरोपी संजीव चावला ने बताया कि क्रिकेट के हर मैच फिक्स रहते हैं। इस सीरीज के मैच फिक्सिंग का आरोप दक्षिण अफ्रीका के कप्तान क्रोनिए ने स्वीकार किया था।

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान क्रोनिए ने रात 3 बजे से ये खुलासा कर सभी को हैरान कर दिया था। 11 अप्रैल को रात 3 बजे दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ने कहा कि मेंने मैच फिक्स किया हैं और इसके बदले में मुझे पैसे मिले हैं। जिसके बाद से उनके ऊपर प्रतिबंध लगा दिया गया था। जुन 2002 में एक विमान हादसे में उनकी मौत हो गई थी।

क्रोनिए दक्षिण अफ्रीका के सबसे सफलतम कप्तानों में गिनती होती हैं। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के लिए 138 वनडे मैचों में कप्तानी की हैं। जिसमें उनकी टीम को 99 मैचों में जीत हासिल हुई हैं। वो दक्षिण अफ्रीका के लिए हरफनमौला खिलाड़ी के रूप में खेलते थे। वो दक्षिण अफ्रीका के बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक थे। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका की क्रिकेट टीम को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया था। लेकिन उनकी एक गलती ने उनके क्रिकेट करियर को खत्म कर दिया।

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *