तीन घंटे का समय क्या कहलाता है? जानिए

Spread the love

प्रहर.

दिन मे 24 घंटे होते है और आठ प्रहर. अतः प्रत्येक तीन घंटे जा समय प्रहर कहलाता है.

हर प्रहर का समय निश्चित है और नाम भी निश्चित है.

औसतन एक प्रहर में तीन घंटे ही होते हैं, और प्रत्येक में दो मुहूर्त का समायोजन भी होता है। एक प्रहर को साढ़े सात घटी भी कहा जाता है, जिसमें एक घटी 24 मिनट का होता है।

प्रहर का विवरण निम्न है.

आठ प्रहर के नाम : दिन के चार प्रहर-

1.पूर्वान्ह, 2.मध्यान्ह, 3.अपरान्ह और 4.सायंकाल।

रात के चार प्रहर-

5. प्रदोष, 6.निशिथ, 7.त्रियामा एवं 8.उषा।

आठ प्रहर : एक प्रहर तीन घंटे का होता है। सूर्योदय के समय दिन का पहला प्रहर प्रारंभ होता है जिसे पूर्वान्ह कहा जाता है। दिन का दूसरा प्रहर जब सूरज सिर पर आ जाता है तब तक रहता है जिसे मध्याह्न कहते हैं।

इसके बाद अपरान्ह (दोपहर बाद) का समय शुरू होता है, जो लगभग 4 बजे तक चलता है। 4 बजे बाद दिन अस्त तक सायंकाल चलता है।

फिर क्रमश: प्रदोष, निशिथ, त्रियामा एवं उषा काल।

सायंकाल के बाद ही प्रार्थना करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *