तुर्की में ऐसा क्या मिला जिससे तुर्की सुर्खियों में आ गया? जिसकी कीमत करोड़ों अरबों रुपए में बताई जा रही है? जानिए

हाल ही में टर्की में 99 मिट्रिक टन सोने का भंडार मिला है. यह सोणा टर्की के शहर सोगुट जो टर्की में मध्य पश्चिम में स्थिति है, में मिला है. एक उर्वरक कम्पनी गुबेरेटस ने टर्की कि दूसरी कम्पनी एग्रीकल्चरल credit कोआपरेशन के साथ मिलकर इसकी खोज कि है. यहां सोने का पहाड़ मिला है. इस सोने कि कीमत 600 करोड़ डालर से भी अधिक है जिसका मूल्य भारतीय मुद्रा में रूपये 44400 करोड़ से भी अधिक है.

टर्की में सोने के भंडार है. 2020 में टर्की ने 38 टन सोने का उत्पादन का रिकार्ड बनाया है. सोने कि खोज करने वाले उर्वरक कम्पनी के शेयर भी टर्की के स्टॉक एक्सचेंज में दस प्रतिशत से अधिक बढ़ गए है. इस सोने कि कीमत कई देशों कि gdp से भी अधिक है जैसे मरीशाश, भूटान, बुरंडी आदि देश है जिनकी gdp इस सोने कि कीमत से कम है.

टर्की अब धीरे धीरे कटटरता कि तरफ बढ़ रहा है और इसकी राजधानी इसतम्बूल है. यह यूरोप और एशिया के बीच स्थिति है. इसे तुरूप का बीमार भी कहते है. यहां प्रथम विश्व युद्ध में खलीफा कि सरकार हटाकर लोकतंत्र कि स्थापना हुयी थी. खफा के समर्थन में भारत ने खिलाफत आंदोलन चलाकर टर्की के साथ सहानुभूत दिखाई थी.

जिससे कांग्रेस भारत के मुसलमानो को खुश कर सके और उनमे प्रसिद्ध हो सके लेकिन फिर भी कांग्रेस भारत के टुकड़े होने से न बचा सकी और भारत के धर्म के आधार पर विभाजन हुआ जिसमे भारत हिन्दुओं के लिए और पाकिस्तान मुसलमानो के लिए मुसलमानो कि मांग पर अंग्रेजों ने स्वीकार किया जिसे भारत के मुख्य राजनितिक दल कांग्रेस और मुस्लिम लीग ने भी माना.

Leave a Reply

Your email address will not be published.