तौक्ते तूफ़ान के कारण मुंबई के सागर तट के पास से अब तक 314 लोग सुरक्षित बचाए गए, 90 अब भी लापता

अरब सागर में आए तौक्ते तूफ़ान के कारण मुंबई के सागर तट के पास एक छोटे जहाज P305 के डूब जाने बाद 90 से ज़्यादा लोग अब भी लापता हैं.

भारतीय नौसेना ने बताया कि जहाज पर सवार 270 लोगों में से 177 लोगों को बचा लिया गया है जबकि बाक़ी लोगों की तलाश जारी है. तीन अन्य व्यापारिक जहाज़, जिनमें 700 लोग सवार हैं, वो अरब सागर में खड़े हैं.

मुंबई में मौजूद बीबीसी संवाददाता जाह्न्वी मूले ने बताया कि तटरक्षक बल के चेतक हेलिकॉप्टर्स ने गैल कंस्ट्रक्टर जहाज़ के चालक दल के सभी 137 लोगों को बचा लिया गया है.

तूफान में फंसे 314 लोगों को अभी तक सुरक्षित बचा लिया गया है. अरब सागर में फंसे अन्य दो जहाजों को खोज लिया गया है और वहां बचाव कार्य जारी है.

तटीय इलाकों से टकराने के बाद तौक्ते तूफ़ान अब कमज़ोर पड़ गया है लेकिन कम से कम 12 लोगों के मारे जाने की रिपोर्ट हैं. नेवी के प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया कि अरब सागर में फँसे जहाज़ों से लोगों को बचाने के लिए तीन जहाज़ भेजे गए थे.

फँसे हुए जहाज़ों में दो मुंबई के सागर तट के पास समंदर में थे जबकि एक गुजरात के सागर तट के पास.

नेवी के डिप्टी चीफ़ ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, “पिछले चार दशकों में मैंने ये सबसे चुनौतीपूर्ण खोज और बचाव अभियान देखा है. नेवी के चार जहाज़ इस काम में लगे हुए हैं. मुंबई के सागर तट से 60 किलोमीटर की दूरी पर डूबे एफकॉन्स बार्ज P305 जहाज़ के 261 लोगों की तलाश और बचाव पर हमारा मुख्य मिशन है.”

इस बीच गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने मंगलवार को बताया कि तौक्ते तूफ़ान के कारण राज्य में तीन लोगों की मौत हो गई. वापी में एक व्यक्ति की मौत हुई जबकि राजकोट में दीवार गिरने से एक बच्चे की मौत हो गई. गरियाधर में एक बुजुर्ग महिला की भी मौत हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.