दशकों बाद बांग्लादेश ने इजरायल के लिए यात्रा हटाया प्रतिबंध

बांग्लादेश ने इजरायल के लिए दशकों से जारी यात्रा प्रतिबंध हटाने की घोषणा की है। इस कदम का यहूदी देश ने स्वागत किया है और ढाका से आह्वान किया है कि वह दोनों देशों के लोगों के लाभ के लिए तेल अवीव के साथ राजनयिक संबंध स्थापित करे। बांग्लादेशी पासपोर्ट पर पहले एक शर्त लिखी होती थी कि यह पासपोर्ट इजरायल को छोड़कर दुनिया के सभी देशों के लिए मान्य है। सरकार ने शनिवार को दस्तावेज से ‘इजरायल को छोड़कर’ हटाने का फैसला किया और इसे पूरी दुनिया के लिए वैध बना दिया। इजरायल ने किया फैसले का स्वागतइजरायल ने यात्रा प्रतिबंध हटाने के बांग्लादेश के फैसले का स्वागत किया है। इजराइल के विदेश मंत्रालय में उप महानिदेशक ने कहा कि गिलाद कोहेन ने ट्वीट किया, ‘अच्छी खबर! बांग्लादेश ने इजराइल के लिए यात्रा प्रतिबंध हटा दिया है। यह एक स्वागत योग्य कदम है और मैं बांग्लादेशी सरकार से आगे बढ़ने और इजराइल के साथ राजनयिक संबंध स्थापित करने का आह्वान करता हूं ताकि दोनों देशों के लोगों को लाभ मिले और समृद्धि हो सके।’ दोनों के बीच रिश्ते में सुधारबांग्लादेश के गृह मंत्री असदुज्जमां खान कमाल ने कहा कि वे यह सुनिश्चित करने के लिए बदलाव ला रहे हैं कि पासपोर्ट अंतरराष्ट्रीय मानकों को पूरा करें।’ आठ दशकों के इजराइल-फलस्तीन संघर्ष में बांग्लादेश ने हमेशा से फलस्तीनियों का पुरजोर समर्थन किया है। इसने कभी भी इजराइल के अस्तित्व को मान्यता नहीं दी है और इसलिए दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंध नहीं हैं। कमाल ने कहा कि इस कदम का मतलब यह नहीं है कि इजराइल को लेकर बांग्लादेश की स्थिति में बदलाव आया है। इजराइल ने 2020 के सितंबर और दिसंबर के बीच मुस्लिम बहुल संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), बहरीन, मोरक्को और सूडान के साथ अपने संबंध सामान्य किये थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.