पाकिस्तान में लागू है ये 10 अटपटे कानून जिनकी वजह से उड़ता है पाक का मजाक

यहाँ आज हम पाकिस्तान के कुछ अजीब नियमों को बताने जा रहे हैं। पाकिस्‍तान ने इन अजीब नियमों को बना कर दुनिया को हंसने की वजह भी दे दी हैं। इनके कुछ नियम इतने अजीब हैं कि आप हंसने लगेंगे। तो आइये आपको कुछ ऐसे ही पाकिस्तान के अटपटे नियमों के बारे में बताते हैं।

परमिशन के बिना फोन नहीं छूना

वैसे ये बात तो सही भी है कि किसी की इजाज़त के बिना उसका फोन नहीं छूना चाहियें। फोन क्या कोई अन्य वस्तु भी नही छूना चाहियें लेकिन पाकिस्‍तान में किसी की इजाज़त बिना फोन छूना बुरी आदत मानी जाती है। अगर कोई बिना इजाज़त फोन छू ले तो उस पर कुछ न कुछ कार्यवाही होना तय है।

लिव-इन रिलेशनशिप पर जेल

पाकिस्‍तान में लिव-इन रिलेशनशिप में जोड़ियों को नहीं रहना चाहिये। यदि कोई लिव-इन रिलेशनशिप में रहते हुए पकड़ा गया तो उसे जेल में डाल दिया जाता है। पाकिस्तान में शादी से पहले लिव-इन रिलेशनशिप में रहना गैर-कानूनी माना जाता है।

पी.एम पर जोक्‍स गैर-कानूनी हैं

पाकिस्‍तान में प्रधानमंत्री पर चुटकुले बनाना बहुत बड़ा गंभीर अपराध माना जाता है। अगर कोई व्यक्ति उनपर जोक्स बनाता पकड़ा गया तो उसे सीधे जेल भी हो सकती है।

अनपढ़ चपरासी अमान्‍य

ये केसा कानून है, यहां एक अनपढ़ चपरासी अमान्‍य लेकिन एक अशिक्षित, प्रधानमंत्री जरूर बन सकता है। चपरासी के पद के लिए ग्रेजुएट होना जरूरी है।

अनावश्‍यक ई-मेल

अगर कोई बेमतलब ई-मेल भेजता है तो उसे भारी जुर्माने का प्रावधान है, जिसके चलते उसे जेल भी हो सकती है।

शिक्षा पर टैक्‍स

आपको ये जान कर बेहद अजीब लगेगा कि पाकिस्तान में दो लाख रुपए से अधिक की शिक्षा पर सालाना 5 प्रतिशत टैक्‍स देना होता है।

ट्रांसजेंडर्स का आर्मी ज्वाइन करना मना

आपको बता दें कि इस देश में इन लोगों की संख्या काफी ज्यादा है। लेकिन यहां ट्रांसजेंडर्स का आर्मी ज्वाइन करना मना है।

इजरायल नहीं जा सकता कोई भी पाकिस्तानी

पाकिस्तान अपने किसी भी नागरिक को इजरायल जाने के लिए वीजा नहीं देता है। इस वजह से कोई भी पाकिस्तानी यहां से सीधे इजरायल नहीं जा पाता। दरअसल ऐसा इसलियें हैं क्योंकि पाकिस्तान की नजर में इजरायल देश है ही नहीं। इस वजह से यहां जाने के लिए पाकिस्तान वीजा ही जारी नहीं करता।

घर के बाहर कुछ भी खाना मना

रमजान के पाक महीने में घर के बाहर कुछ भी खाना मना है। जो मुस्लिम नहीं हैं तो भी उन्हें इस नियम को मानना जरूरी है।

अरबी शब्दों का अंग्रेजी अनुवाद करना मना

अरबी शब्दों जैसे – अल्लाह, मस्जिद, रसूल या नबी का अंग्रेजी अनुवाद करना मना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.