प्रेगनेंसी में कौन सी सब्जी नहीं खानी चाहिए? जानिए

वैसे तो बैगन में कई सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं लेकिन गर्भावस्था के दौरान गर्भवती को बैगन खाने से मना किया जाता है क्योंकि यह शरीर में गर्मी को पैदा करती है और यह एसिडिक भी होती है जिससे आपकी प्रेगनेंसी को नुकसान पहुंच सकती है। बैगन में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो आपकी पीरियड को लाने में मदद करती है इसी कारण इसे प्रेगनेंसी में नहीं खाना चाहिए क्योंकि इससे आपका गर्भपात या शरीर में खुजली भी हो सकता है।

प्रेगनेंसी में अंकुरित अनाज खाना | sprouted grains in pregnancy

फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन के मुताबिक स्प्राउटेड ग्रेंस यानी अंकुरित अनाजब को गर्भवती को खाने से बचना चाहिए क्योंकि अंकुरित अनाज में सालमोनेला, लिस्टरिया और ए कोली जैसे खतरनाक बैक्टीरिया पाए जाते हैं जिससे गर्भवती या गर्भ में शिशु को संक्रमण का खतरा हो सकती है। और यहां तक की गर्भवती को गर्भपात और समय पूर्व प्रसव भी हो सकता है।

प्रेगनेंसी में पत्ता गोभी खाना | Cabbage in pregnancy

आम महिलाओं के मुकाबले गर्भवती महिला का शरीर बहुत ही जल्दी किसी भी बीमारी का शिकार हो जाती है पत्ता गोभी को कई सारे कीटनाशक दवाइयों से उगाया जाता है और यह कीटनाशक दवाइयों का असर पत्ता गोभी में पकाने के बाद भी रह सकती है जिससे गर्भवती को और गर्भ में शिशु को इससे नुकसान हो सकता है इसलिए गर्भवती को पत्ता गोभी खाने से मना किया जाता है।

प्रेगनेंसी में करेला खाना | Bitter gourd in pregnancy

करेला गर्भ में शिशु के विकास में मदद करता है गर्भवती को करेला एक सीमित मात्रा में जरूर खाना चाहिए लेकिन हम आपको बता दें करेला के बीज में vicine नामक केमिकल तत्व पाया जाता है जो गर्भवती और गर्म शिशु के लिए खतरनाक हो सकता है। प्रेगनेंसी में करेला के बीज को खाने से गर्भवती को जी मिचलाना, खून की कमी, बुखार, अपच और गर्भपात हो सकती है। हो सके तो करेला खाने से आपको बचना चाहिए।

प्रेगनेंसी में अदरक खाना | Ginger in pregnancy

वैसे तो अदरक प्रेगनेंसी में काफी उपयोगी सब्जियों में से एक है इस अदरक का इस्तेमाल गर्भावस्था में जी मिचलाना और मॉर्निंग सिकनेस की समस्या को कम करने के लिए किया जाता है लेकिन अगर अदरक का इस्तेमाल प्रेगनेंसी में ज्यादा किया जाए तो इससे गर्भवती का गर्भपात भी हो सकता है खासकर गर्भवती को प्रेगनेंसी के पहले 3 महीने तक अदरक का इस्तेमाल भूलकर भी नहीं करना चाहिए।

प्रेगनेंसी में तुलसी का पत्ता खाना | Basil leaf in pregnancy

मुझे इसके फायदे आपको बताने की जरूरत नहीं है क्योंकि आप यह जरूर जानते होंगे कि तुलसी के पत्ते के फायदे बहुत सारे हैं और प्रेगनेंसी में भी गर्भवती को तुलसी का पत्ता खाना चाहिए लेकिन तुलसी के पत्ते में Eugenol की मात्रा ज्यादा होने के कारण गर्भवती को प्रेगनेंसी में अधिक मात्रा में तुलसी के पत्ते को नहीं खाना चाहिए क्योंकि इससे गर्भाशय में संकुचन बढ़ सकता है और गर्भवती का गर्भपात भी हो सकता है।

प्रेगनेंसी में पपीता खाना | Papaya in pregnancy

पपीता को फल और सब्जियों के रूप में खाया जाता है और इसमें कई सारे पोषक तत्व भी होते हैं जो हमारे शरीर के लिए जरूरी होती हैं लेकिन गर्भवती को कच्चा पपीता खाने से बिल्कुल परहेज करना चाहिए क्योंकि पपीता में पाया जाने वाला लेटेक्स गर्भवती के गर्भाशय में संकुचन को बढ़ा सकता है और गर्भवती का गर्भपात भी हो सकता है इसलिए पपीते की सब्जी गर्भवती को खाने से बिल्कुल परहेज करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.