फिंगरप्रिंट और फेसलॉक में से कौन ज्यादा सुरक्षित हैं?

फिंगरप्रिंट स्कैनर ज़्यादा सुरक्षित है। ऐसा इसलिए क्योंकि फ़ेस स्कैनर आपके पूरे चेहरे को मैच नही करता केवल समानताएँ ढूंढता है बल्कि फिंगरप्रिंट स्कैनर में ऐसा नही होता।

उदाहरण के तौर पर अगर आपके फ़ोन में फिंगरप्रिंट स्कैनर और फ़ेस स्कैनर दोनों ही उपलब्ध हों तो आपका फिंगरप्रिंट स्कैनर तो आपकी उंगली में हर उस बारीकी को खोजेगा जो उसमें दर्ज की गई है और क्योंकि हर व्यक्ति का फिंगरप्रिंट अलग होता है इसलिए आपके जैसा फिंगरप्रिंट मिलना बेहद मुश्किल है।

वहीं दूसरी तरफ आपका फेस स्कैनर ये बात अच्छे से जनता है कि इंसानी चेहरा हर वक़्त एक समान नही रहता इसलिए वो केवल दर्ज किए हुए चेहरे और आपके चेहरे में समानताएँ तलाशेगा। इसका मतलब ये हुआ कि यदि आपके चेहरे से मिलता-जुलता चेहरा भी उसको दिखाया जाए तो फ़ोन अनलॉक हो जाएगा।

आपको जानकर हैरानी होगी की apple के iphone के सामने एक हैकर ने मास्क लगाकर iphone को अनलॉक कर लिया था। यकीन ना हो तो आप ये खबर पढ़ सकते हैं.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *