फेक ईमेल की कैसे करें पहचान? इन तरीकों से लगाएं पता

आजकल ज्यादातर लोग विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का इस्तेमाल करते हैं। अधिक उपयोग के साथ-साथ आए दिन धोखाधड़ी और साइबर हमलों के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं।

इन हमलों की जांच करते समय यह सामने आया है कि ज्यादातर हैकर्स फेक ईमेल के जरिये लोगों को अपना शिकार बनाते हैं।

ऐसे में लोगों के लिए इसकी पहचान करना चाहिए बहुत जरूरी है कि कौन सा ईमेल फेक है और कौन सी नहीं। यहां इसके कई तरीके बताए गए हैं।

#1 शब्दों का रखें ध्यान :-

फेक ईमेल की पहचान करने के लिए सबसे पहले उसमें लिखे गए शब्दों और वाक्यों को जांचे।

ये देखें कि वे शब्द सही लिखे गए हैं नहीं। उनकी स्पेलिंग सही होनी चाहिए। वहीं उसमें कोई ग्रामप मिस्टेक तो नहीं है।

कई बार हैकर्स फेक ईमेल में गलत स्पेलिंग लिख देते हैं और ग्रामेटिकल मिस्टेक कर देते हैं। अगर स्पेलिंग सही नहीं है तो समझ जाएं कि वह फेक ईमेल हो सकता है।

#2 कंपनियों के नाम पर ध्यान दें :-

ज्यादातर हैकर्स दिग्गज कंपनियों के नाम का सहारा लेते हैं। वे फेक ईमेल आईडी बनाकर लोगों से जुड़ते हैं और उन्हें कंपनी की ओर से ईमेल या मैसेज करते हैं।

अगर ईमेल पढ़कर आपको कोई भी कुछ भी अलग या ठीक नहीं लगे तो उसमें आए लिंक पर गलती से भी टैप न करें।

हमेशा पहले ईमेल को ध्यान से पढ़ें। कुछ गलत लगने पर उस आईडी को ब्लॉक कर दें।

#3 URL को देखें :-

फेक ईमेल का पता लगाने के लिए उसमें आए URL की जांच करें।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि असली ईमेल का URL हमेशा https से शुरू होता है। अगर ईमेल फेक होगा तो उसका URL http से शुरू होगा।

इस बात का ध्यान रखते हुए पहले URL की जांच करें। उसके बाद ही उसमें आए लिंक आदि पर टैप करें।

इस तरह आप हैकर्स के जरिये भेजे गए ईमेल से बच पाएंगे।

#4 अटैचमेंट की जांच करना है जरूरी :-

जल्दबाजी में अटैचमेंट खोलने की गलती न करें। कई हैकर्स इनके जरिये लोगों को अपना शिकार बनाते हैं।

इस कारण पहले देखें कि ईमेल में दिया गया अटैचमेंट ईमेल के अनुसार है या नहीं। अगर आपको अटैचमेंट में ऐसा कुछ भी लगे, जो ईमेल के अनुसार न हो तो उसे ओपन न करें।

ऐसे ईमेल को डिलीट कर दें और आईडी को ब्लॉक कर दें।इस प्रकार आप आसानी से फेक ईमेल्स से बच सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.