बल्लेबाज के आउट होने को ‘डक’ क्यों कहते हैं? जानिए

क्रिकेट में जब बल्लेबाज़ शून्य के स्कोर के पर आउट होता है तब उसे ‘डक’ कहते हैं |

अगर बल्लेबाज़ अपनी पहली ही गेंद पर आउट हो जाए, तो उसे ‘गोल्डन डक’ कहते हैं |

जो बल्लेबाज कोई भी गेंद का सामना किए बिना आउट हो जाता है {जो आमतौर पर नॉन-स्ट्राइकर के छोर से बाहर निकलता है, लेकिन वैकल्पिक रूप से स्टम्प्ड(वाईड गेंद पर) रन आउट होता है} उसे डायमंड डक कहते हैं |

‘डक’ शब्द ‘डक(बतख)के अंडे‘ से उत्पन्न हुआ है। अंडे का आकार 0(शून्य) जैसा होता है, और इसलिए आमतौर पर शून्य(बिना रन बनाए) पर आउट होने वाले बल्लेबाज़ को “डक” कहा जाता है |

दरअसल, एक बार जब, 1866 में, वेल्स के प्रिंस शून्य पर आउट हुए, तो अगले दिन अखबार में छपा कि “प्रिंस डक(बतख) के अंडे {शून्य} पर आउट होकर वापस गए |” तभी से ‘डक’ कहने कि शुरुआत हुई |

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *